• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • गुजरात के राजकोट में फिर भूकंप, 24 घंटे में तीसरी बार लगे झटके, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 4.4

गुजरात के राजकोट में फिर भूकंप, 24 घंटे में तीसरी बार लगे झटके, रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 4.4

मिजोरम में भूकंप के झटके महसूस किए गए

मिजोरम में भूकंप के झटके महसूस किए गए

Earthquake in Gujarat: सोमवार दोपहर 12.57 मिनट पर गुजरात के राजकोट (Rajkot) में धरती एक बार फिर भूकंप के झटकों से हिली. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.4 मापी गई है.

  • Share this:
    राजकोट. गुजरात (Gujarat) में लगातार दूसरे दिन भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए हैं. सोमवार दोपहर 12.57 मिनट पर गुजरात के राजकोट (Rajkot) में धरती एक बार फिर भूकंप के झटकों से हिली. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.4 मापी गई है. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (National Center for Seismology) के अनुसार, भूकंप का केंद्र (Earthquake center) राजकोट से 83 किमी दूर था. भूकंप के झटके महसूस होने के बाद लोग डर गए और अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए. 24 घंटे में गुजरात में तीसरी बार तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.

    इससे पहले रविवार रात करीब 8 बजे भी गुजरात में भूकंप (Earthquake in Gujarat) आया था. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 5.5 मापी गई थी. हालांकि, रविवार रात को महसूस किए गए भूकंप के झटकों में किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं आई थी.



    मुख्यमंत्री ने की जिला क्लेक्टरों से बातचीत
    गुजरात के कई इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए जाने के बाद मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कच्छ, राजकोट और पाटन के जिला कलेक्टरों के साथ टेलीफोन पर बातचीत की. मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया है कि यदि आवश्यक हो तो आपदा प्रबंधन कोशिकाओं को इलाके में सक्रिय करें.

    जख्म हो जाते हैं ताजा
    गुजरात के कच्छ में अमूमन भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं. हालांकि उनकी तीव्रता 1 से 3 के बीच ही होती है. लेकिन पिछले 24 घंटे में गुजरात में जो भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं वो काफी तेज हैं. गुजरात में भूकंप से लोगों के 2001 के जख्म हरे हो जाते हैं, जब 26 जनवरी के दिन सुबह आए भूकंप ने हजारों लोगों की जान ले ली थी और बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए थे. कई शहर, कस्बे और गांव मलबे के ढेर में बदल गए थे. उस दिन भूकंप का केंद्र कच्छ में था और तीव्रता 6.9 थी.

    उल्लेखनीय है कि इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में हाल के दिनों के भूकंप के कई झटके महसूस किए जा चुके हैं. कोरोना संकट के बीच दिल्ली- NCR, गुजरात, उत्तर भारत में बार-बार महसूस किए जा रहे भूकंप के झटकों ने लोगों की चिंता बढ़ाई है. हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि छोटे भूकंप से ज्यादा खतरा नहीं है बल्कि ये बड़े भूकंप के खतरे को कम कर सकते हैं. इसलिए इन भूकंप के झटकों से घबराने की नहीं बल्कि एहतियात बरतने की आवश्यकता है.

    ये भी पढ़ेंः-
    मैप से जानिए कि पूरे देश के कौन-कौन से इलाकों में है भूकंप का सबसे ज्यादा खतरा?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज