लाइव टीवी

शाहीनबाग में 4 माह के बच्चे की मौत, वीरता पुरस्कार पाने वाली बच्ची ने CJI को लिखी चिट्ठी

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 2:19 PM IST
शाहीनबाग में 4 माह के बच्चे की मौत, वीरता पुरस्कार पाने वाली बच्ची ने CJI को लिखी चिट्ठी
जेन को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार मिल चुका है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित शाहीनबाग (Saheenbagh) में CAA-NRC के खिलाफ 15 दिसंबर से ही धरना प्रदर्शन जारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 2:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित शाहीनबाग  (Saheenbagh) में संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन में एक चार महीने की बच्ची की मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के हाथों राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार से अलंकृत छात्रा जेन सदावर्ते ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया  जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े (CJI S A Bobde) को पत्र लिखा है.

CJI को लिखी चिट्ठी में छात्रा ने कहा है कि इस तरह के धरने प्रदर्शन में बच्चों को शामिल न किया जाए. मांग की गई है इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट गाइड लाइन बनाए. बीते दिनों शाहीनबाग में एक चार महीने के बच्चे के मौत की खबर आई. बताया गया कि बच्चे की मां, उसके साथ शाहीनबाग स्थित प्रदर्शन स्थल पर आती थी. बताया गया कि ठंड के चलते बच्चे की मौत हौ गई.

छात्रा ने चिट्ठी में की यह मांग
छात्रा ने अपनी चिट्ठी में कहा है- 'चार महीने का बच्चा, मोहम्मद जहान जो अपने परिजनों के साथ दक्षिण दिल्ली स्थित शाहीनबाग में सीएए और एनआरसी के खिलाफ हो रहे विरोध-प्रदर्शन में था.पुलिस प्रशासन समेत अन्य उचित प्राधिकारियों क को इस बात के आदेश दे कि वह इसकी जांच करें.  चिट्ठी में दो मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए कहा गया है कि बच्चे की मृत्यु प्रमाण पत्र में भी इस बात का जिक्र नहीं है कि उसकी मौत किस कारण से हुई.'



मुंबई स्थित एक स्कूल की कक्षा सातवीं की 12 वर्षीय छात्रा ने सुप्रीम कोर्ट से अपील की है कि वह यह सुनिश्चित करे कि प्रदर्शन स्थल पर कोई बच्चा ना हो. गौरतलब है कि  दक्षिण पूर्व दिल्ली स्थित शाहीन बाग देशभर में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के केंद्र के रूप में उभरा हैं जहां पिछले साल दिसंबर के मध्य से ही बड़ी संख्या में महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं.

यह भी पढ़ेंमहिला अफसरों से कमांड लेने को तैयार नहीं हैं भारतीय सेना के जवान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 1:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर