'कोविड-19 लक्षणों वाले 40-45 बांग्लादेशियों को सीमा से वापस भेजा गया'

'कोविड-19 लक्षणों वाले 40-45 बांग्लादेशियों को सीमा से वापस भेजा गया'
कोरोना वायरस की प्रतीकात्मक फोटो.

इन बांग्लादेशियों (Bangladeshies) में बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होने जैसी समस्याएं पाए जाने के बाद उन्हें सीमा से वापस भेज दिया गया. ये कोरोना वायरस (Corona Virus) के लक्षण हैं. इन सभी के पास यात्रा के वैध दस्तावेज थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 14, 2020, 6:29 AM IST
  • Share this:
अगरतला. कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे के बीच शुक्रवार को त्रिपुरा (Tripura) में अखौरा चौकी के जरिए भारत आ रहे करीब 40-45 बांग्लादेशियों (Bangladeshies) को वापस भेज दिया गया. इन बांग्लादेशियों में बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होने जैसी समस्याएं पाए जाने के बाद उन्हें सीमा से वापस भेज दिया गया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि उन सभी के पास यात्रा के वैध दस्तावेज थे.

भारत आए इन लोगों को 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में रखा जाएगा
पश्चिमी त्रिपुरा की जिला निगरानी अधिकारी संगीता चक्रवर्ती ने कहा, ‘बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होने जैसी समस्याएं मिलने के बाद लगभग 40-45 बांग्लादेशियों को सीमा से वापस भेज दिया गया. ये कोविड-19 (Kovid-19) के लक्षण हैं, इसलिए उन्हें वापस भेज दिया गया.’ उन्होंने कहा कि जिन लोगों को अखौरा चौकी से भारत में प्रवेश करने की अनुमति दी गई, उन्हें 14 दिनों के लिए त्रिपुरा में आइसोलेशन में रखा जाएगा.

15 अप्रैल तक बंद रहेंगी भारत-बांग्लादेश आने-जाने वाली ट्रेनें तथा बसें
केंद्र सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि शनिवार मध्य रात्रि से लोगों को 37 में से 19 जमीनी आव्रजन जांच चौकी से गुजरने की इजाजत होगी और भारत-बांग्लादेश आने-जाने वाली ट्रेनें तथा बसें 15 अप्रैल तक बंद रहेंगी. गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव अनिल मलिक ने कहा कि भारत नेपाल सीमा पर केवल चार चेक पोस्ट चालू रहेंगे और भूटान तथा नेपाल के नागरिकों के लिए देश में वीजा मुक्त प्रवेश जारी रहेगा. उन्होंने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के निए उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए यह जानकारी दी.





करतारपुर गलियारे को बंद करने पर किया जा रहा है विचार
गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव अनिल मलिक ने बताया कि 37 जमीनी आव्रजन सीमा चौकी में से अंतरराष्ट्रीय यातायात के लिए केवल 19 चालू रहेंगी. उन्होंने बताया कि करतारपुर गलियारे को बंद करने पर भी विचार चल रहा है. मलिक ने कहा, ‘अभी यथास्थिति बनी हुई है.’ स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि जमीनी सीमाओं पर भारी यातायात को देखते हुए जांच सुविधाओं को मजबूत किया जा रहा है और थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा भी शीघ्र शुरू किए जाने की संभावना है.

ये भी पढे़ं - 

कोरोना: तेज प्रताप और तेजस्वी यादव ने मास्क पहनकर अलर्ट रहने का दिया संदेश

सौतेली बेटी से 9 साल तक किया रेप, कोर्ट ने सौतेले पिता को दी आखिरी सांस तक कैद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading