लाइव टीवी

भैंसा में दो समुदायों में हिंसा के बाद स्थिति नियंत्रण में, इंटरनेट बंद, 40 लोग गिरफ्तार

भाषा
Updated: January 14, 2020, 10:30 PM IST
भैंसा में दो समुदायों में हिंसा के बाद स्थिति नियंत्रण में, इंटरनेट बंद, 40 लोग गिरफ्तार
तेलंगाना के निर्मल नगर जिले के भैंसा नगर में दुपहिया वाहनों के शोर के चलते दो समुदायों के बीच बहस हुई और मामला पथराव तथा आगजनी तक जा पहुंचा (Photo- Arvind Dharmapuri Twitter)

घटना की सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद दोनों समुदायों से 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है और नगर में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं.

  • Share this:
हैदराबाद. निर्मल जिले के भैंसा नगर में सांप्रदायिक हिंसा (Communal Violence) के मामले में अब तक 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. शहर में स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है. पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. नगर में रविवार देर रात उस समय टकराव शुरू हुआ था जब कुछ लोग बिना साइलेंसर वाली मोटरसाइकिल चला रहे थे. इन दुपहिया वाहनों के शोर के चलते दो समुदायों के बीच बहस हुई और मामला पथराव तथा आगजनी तक जा पहुंचा. संघर्ष आधी रात तक चलता रहा.

क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दिए जाने के बावजूद दोनों समुदायों के कुछ लोग सोमवार को आपस में फिर भिड़ गए और एक-दूसरे पर पथराव किया. इसके बाद पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्च किया.

40 लोग गिरफ्तार, इंटरनेट सेवाएं बंद
जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि स्थिति शांतिपूर्ण और पूरी तरह नियंत्रण में है. स्थिति पर नजर रखी जा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. सीसीटीवी फुटेज देखी गई है और दोनों समुदायों से 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है और नगर में इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं.

20 से ज्यादा वाहन जलाए
झड़प तब हिंसा में तब्दली हो गई जब दोनों समुदायों के लोगों ने मकानों में तोड़फोड़ के साथ ही 20 से अधिक वाहनों को जला दिया. कुछ दंगाइयों ने दमकल गाड़ियों के पाइप भी कथित तौर पर काट दिए.पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि भैंसा नगर में नेताओं को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी और शांति लगातार कायम रहने पर प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी (G Kishan Reddy) ने हिंसा की निन्दा की और तेलंगाना के पुलिस महानिदेशक से मुद्दे पर बात की. उन्होंने कहा, ‘‘मैं भैंसा में लोगों और संपत्ति पर हमले की खबर से बेहद व्यथित हूं.’’

रेड्डी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘सभी नागरिकों और संपत्तियों को सुरक्षा उपलब्ध कराने की आवश्यकता पर तेलंगाना के डीजीपी से बात की. उपद्रवी तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को भी कहा.’’



सुनियोजित हमले का दावा
भाजपा (BJP) के तेलंगाना (Telangana) राज्य के मुख्य प्रवक्ता के के कृष्णसागर राव ने एक बयान में दावा किया कि कुछ आपराधिक तत्वों ने सुनियोजित तरीके से हिन्दुओं पर हमला किया और उनके वाहनों तथा मकानों को आग लगा दी. उन्होंने कहा कि स्थानीय हिन्दुओं ने अपने खिलाफ बड़ी आगजनी की खबर दी है. वे अब डरे हुए हैं कि निकट भविष्य में और अधिक हिंसा हो सकती है.

इस बीच, तेलंगाना के एकमात्र भाजपा विधायक टी राजा सिंह लोध को मंगलवार को यहां उनके घर में ‘‘नजरबंद’’ कर दिया गया जिन्होंने भैंसा नगर का दौरा करने की घोषणा की थी.

पुलिस ने बताया कि निर्देश मिलने के बाद भाजपा विधायक को उनके घर में नजरबंद कर दिया गया.

राजा सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘आज मुझे उस समय मेरे घर में नजरबंद कर दिया गया जब मैं अपनी हिन्दू वाहिनी के कार्यकर्ताओं से मिलने भैंसा नगर के लिए रवाना हो रहा था...जब एमआईएम और टीआरएस के नेताओं को जाने की अनुमति है तो मुझे क्यों रोका गया, तेलंगाना के डीजीपी?’’

ये भी पढ़ें-
Nirbhaya Case: दोषी मुकेश ने डेथ वारंट को दिल्ली हाईकोर्ट में दी चुनौती

जेएनयू हिंसा में शामिल तीन कथित ABVP कार्यकर्ता फरार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 10:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर