Home /News /nation /

पाकिस्तान ने गुजरात तट के पास 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ा

पाकिस्तान ने गुजरात तट के पास 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ा

पाकिस्तान की नौवहन सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार तड़के गुजरात तट पर जखाउ बंदरगाह के समीप समुद्र में कम से कम 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी सात नौकाएं जब्त कर लीं।

पाकिस्तान की नौवहन सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार तड़के गुजरात तट पर जखाउ बंदरगाह के समीप समुद्र में कम से कम 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी सात नौकाएं जब्त कर लीं।

पाकिस्तान की नौवहन सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार तड़के गुजरात तट पर जखाउ बंदरगाह के समीप समुद्र में कम से कम 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी सात नौकाएं जब्त कर लीं।

    अहमदाबाद पाकिस्तान की नौवहन सुरक्षा एजेंसी ने शुक्रवार तड़के गुजरात तट पर जखाउ बंदरगाह के समीप समुद्र में कम से कम 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी सात नौकाएं जब्त कर लीं। नेशनल फिशवर्कर्स फोरम (एनएफएफ) के सचिव मनीष लोढारी ने कहा कि पाकिस्तान नौवहन सुरक्षा एजेंसी ने जखाउ बंदरगाह के समीप अरब सागर में कम से कम 40 भारतीय मछुआरों को पकड़ लिया और उनकी सात नौकाएं जब्त कर लीं।

    लोढारी ने दावा किया कि इन सात नौकाओं में छह ओखा बंदरगाह से समुद्र में गई थीं जबकि एक पोरबंदर में पंजीकृत है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक रिपोटरें से खुलासा हुआ है कि उनमें से सभी को अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा के समीप पकड़ लिया गया क्योंकि शायद वे घने कोहरे के कारण सीमारेखा पार कर गए थे।

    ऐसी संभावना है कि जब्त नौकाओं और पकड़े गए मछुआरों की संख्या अधिक हो सकती है। उन्होंने कहा कि सागर में कोई भौतिक सीमांकन तो है नहीं, ऐसे में मछुआरे समुद्र में अपनी सटीक अवस्थिति और समुद्री सीमा से निकटता का पता लगाने के लिए नौकाओं पर लगी जीपीएस प्रणाली पर निर्भर होते हैं।

    लोढारी ने कहा कि लेकिन सभी नौकाओं पर जीपीएस नहीं लगा है। इसके अलावा केवल नवीनतम जीपीएस उपकरण से ही पर्दे पर समुद्री सीमा दिखती है जबकि ऐसे पुराने उपकरण यह काम नहीं करते। फलस्वरूप मछुआरों के लिए, यदि जीपीए है तो भी, अवस्थिति का पता लगाना मुश्किल है।

     

     

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर