जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के लिए स्थानीय भर्ती में आई 40 प्रतिशत की कमी: सरकार

संसद में केंद्र सरकार ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी समूहों के लिए स्थानीय युवाओं की भर्ती में 40 फीसदी की कमी आई है.'

भाषा
Updated: July 24, 2019, 6:19 PM IST
जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के लिए स्थानीय भर्ती में आई 40 प्रतिशत की कमी: सरकार
गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्यसभा में दी ये जानकारी (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: July 24, 2019, 6:19 PM IST
जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी समूहों के लिए स्थानीय युवाओं की भर्ती में 40 फीसदी की कमी आई है. केंद्र सरकार ने इसकी जानकारी संसद में दी है. सरकार ने ये भी बताया कि सीमा पार से घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी आई है.

गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बुधवार को राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि साल 2019 के पूर्वार्द्ध में वर्ष 2018 की तुलना में जम्मू कश्मीर की सुरक्षा स्थिति बेहतर हुई है.

घुसपैठ में आई 43 फीसदी की कमी
उन्होंने बताया ‘राज्य में घुसपैठ में 43 फीसदी और आतंकवादी समूहों में स्थानीय युवाओं की भर्ती में 40 फीसदी की कमी आई है. आतंकवादी घटनाओं में भी 28 फीसदी की कमी आई है.’ रेड्डी ने बताया कि राज्य में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में 59 फीसदी की वृद्धि हुई तथा इसके चलते आतंकवादियों के सफाए में 22 फीसदी की वृद्धि हुई है.

आंतकियों से निपटने के लिए सरकार ने उठाए कदम
गृह राज्य मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार ने आतंकवाद के लिए कतई बर्दाश्त की नीति नहीं अपनाई है. उन्होंने कहा कि आतंकवादी संगठनों की चुनौतियों से कारगर तरीके से निपटने के लिए भी कई कदम उठाए गए हैं. रेड्डी के अनुसार, सुरक्षा बल आतंकवादियों की मदद का प्रयास करने वाले व्यक्तियों पर कड़ी नजर रखते हैं और उनके खिलाफ कार्रवाई करते हैं.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

पाक PM इमरान खान बोले- ओसामा के खिलाफ अमेरिका की कार्रवाई से मुझे शर्मिंदगी हुई
अमेरिकी डिप्लोमेट्स के दिमाग में कोई खेल? एडवांस MRI से पैदा हुआ सस्पेंस
First published: July 24, 2019, 6:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...