सरकार ने लोकसभा में बताया, भारत में रह रहे हैं 41,331 पाकिस्तानी और 4,193 अफगान नागरिक

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक लिखित सवाल का जवाब देते हुए यह जानकारी लोकसभा में दी. उन्होंने यह भी बताया कि ये लोग 6 अलग-अलग धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों से आते हैं.

News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 4:47 PM IST
सरकार ने लोकसभा में बताया, भारत में रह रहे हैं 41,331 पाकिस्तानी और 4,193 अफगान नागरिक
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में यह जानकारी दी (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 4:47 PM IST
भारत में 41,331 पाकिस्तानी और 4,193 अफगानी नागरिक रह रहे हैं. यह सारे ही नागरिक दोनों ही देशों के अल्पसंख्यक समुदायों से आते हैं. मंगलवार को लोकसभा में यह बात केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में एक प्रश्न के जवाब में बताई. उन्होंने बताया कि दोनों ही देशों के अल्पसंख्यक समुदायों से आने वाले ये नागरिक लंबे समय से भारत में रहते आ रहे हैं.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में यह भी बताया कि लंबे वक्त से भारत में रहते आ रहे इन लोगों को लंबे समय के वीज़ा पाने में बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. उन्होंने यह भी बताया कि ये लोग मुख्यत: 6 अल्पसंख्यक समुदायों से आते हैं.

ये लोग लॉन्ग टर्म वीजा के लिए अब नहीं लगाते ऑफिस के चक्कर
कई बार इन्हें लॉन्ग टर्म वीज़ा (LTV) पाने के लिए वीजा की एप्लीकेशन को लेकर बार-बार चक्कर न काटना पड़ता है. इस बात का ख्याल रखते हुए सरकार ने 2014 में एक ऑनलाइन LTV एप्लीकेशन प्रॉसेसिंग पोर्टल लॉन्च कर दिया था. जिसके जरिए इन लोगों को आसानी से लॉन्ग टर्म वीज़ा दिए जा सकें.

लंबे वक्त से भारत में रहते आ रहे हैं ये इन देशों के धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय के लोग
एक लिखित सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि उपलब्ध जानकारियों के मुताबिक भारत में 41,331 पाकिस्तानी नागरिकों और 4,193 अफगान नागरिकों को जो कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यक समुदायों से आते हैं, उनके भारत में रहने के बारे में भारत सरकार को जानकारी है. केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि लंबे वक्त से भारत में रह रहे इन लोगों के बारे में सरकार को उपलब्ध डेटा 31 दिसंबर, 2018 तक का है.

भारत में कई बार गैरकानूनी तरकी से रहने वाले पाकिस्तानी नागरिकों को भी पकड़ा जाता रहा है. खासकर राजस्थान के सीमावर्ती इलाकों से अक्सर ऐसी खबरें आती रही हैं. पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय पर होने वाले अत्याचारों से परेशान होकर कई सारे अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भारत में चले आते हैं और यहां पर अपने परिजनों के पास छिपकर गैरकानूनी तरीके से रहने लगते हैं. बाद में पकड़े जाने के बाद ऐसे भी कई लोग लंबे वक्त के वीजा की मांग भारत से करते हैं ताकि उन्हें वापस पाकिस्तान न जाना पड़े.
Loading...

यह भी पढ़ें: कश्मीर घाटी ने देश को दिए आतंकियों से 100 गुना ज्यादा रक्षक
First published: July 16, 2019, 4:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...