Home /News /nation /

लॉकडाउन की त्रासदी, बड़ी आबादी ने पेट भरने को लिया कर्ज : सर्वे

लॉकडाउन की त्रासदी, बड़ी आबादी ने पेट भरने को लिया कर्ज : सर्वे

हंगर वॉच नाम की संस्था ने यह सर्वे किया है. (Photo: Reuters)

हंगर वॉच नाम की संस्था ने यह सर्वे किया है. (Photo: Reuters)

अपने तरह के इस पहले सर्वे में खुलासा हुआ है कि लॉकडाउन (Lockdown) का सबसे ज्यादा असर मुस्लिम और दलित (Muslim and Dalit) आबादी पर पड़ा. इस रिपोर्ट में केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर भी कहा गया है कि इससे पूरी खरीद प्रक्रिया पर असर पड़ेगा. इससे देश में भूख के हालात और बदतर होंगे.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) से देश को बचाने के लिए रखे गए लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) की तकलीफें तो सभी ने देखी हैं. अब एक ताजा सर्वे (New Survey) में सामने आया है कि देश के 11 राज्यों के करीब 45 फीसदी लोगों को लॉकडाउन के दौरान भोजन के लिए कर्ज लेना पड़ा.

    अपनी तरह के इस पहले सर्वे में खुलासा हुआ है कि लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर मुस्लिम और दलित आबादी पर पड़ा. इस रिपोर्ट में केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों को लेकर भी कहा गया है कि इससे पूरी खरीद प्रक्रिया पर असर पड़ेगा. इससे देश में भूख के हालात और बदतर होंगे.

    हंगर वॉच ने किया है ये सर्वे, कई हजार लोगों से पूछे सवाल
    हंगर वॉच संस्था द्वारा किए गए इस सर्वे में सामने आया है कि हर चार में एक दलित-मुस्लिम ने लॉकडाउन के बाद से खाने को लेकर पक्षपात का सामना किया. वहीं सामान्य वर्ग के हर दस में से एक व्यक्ति को भोजन तक पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

    सर्वे में यह भी सामने आया कि देश के 11 राज्यों में 45 प्रतिशत लोगों के सामने लॉकडाउन के समय ऐसी आर्थिक दिक्कतें आईं कि उन्हें भोजन तक के लिए कर्ज लेना पड़ा. हंगर वॉच ने यह भी पाया है कि दलित आबादी के अनाज की कुल खपत 74 प्रतिशत तक कम हो गई. इसे सीधा आर्थिक कारणों से जोड़कर देखा जा रहा है.

    बिना खाना खाए ही रात को सोना पड़ा
    सितंबर-अक्टूबर महीने में किए इस सर्वे में हर सात में से एक आदमी ने कहा कि कई बार उन्हें रात को बिना खाना खाए ही सोना पड़ा. यह रिपोर्ट उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, झारखंड, दिल्ली, तेलंगाना, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल के तकरीबन 4000 लोगों से बातचीत के आधार पर बनाई गई है.

    (सुहास मुंशी की इस स्टोरी को यहां क्लिक कर पूरा पढ़ा जा सकता है.)undefined

    Tags: COVID 19, Hunger, Hunger death, Lockdown

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर