जम्मू कश्मीर में ऐसे जनता के बीच पहुंचेगी सरकार, ये रहा शेड्यूल

अमित पांडेय | News18India
Updated: August 21, 2019, 5:54 PM IST
जम्मू कश्मीर में ऐसे जनता के बीच पहुंचेगी सरकार, ये रहा शेड्यूल
जम्मू कश्मीर में अब लोगों के बीच जाएगी सरकार

कश्मीर (Kashmir) से धारा 370 (Article 370) हटाने के बाद सरकार अब सीधे जनता के बीच जाएगी. राज्यपाल (Governor) के पांचों सलाहकार सप्ताह के अलग अलग दिन लोगों से मिलकर उनकी समस्याएं जानेंगे. इन सलाहकारों को अलग अलग विभागों का ज़िम्मा भी दिया गया है

  • News18India
  • Last Updated: August 21, 2019, 5:54 PM IST
  • Share this:
कश्मीर (Kashmir) से धारा 370 हटाए जाने के बाद अब सरकार की कोशिश है कि तमाम पाबंदियों (Restrictions) के बीच वो खुद कश्मीर (Kashmir) की जनता तक पहुंचे. राज्यपाल के सलाहकार इसमे अहम किरदार निभाएंगे. मौजूदा समय में जम्मू कश्मीर राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik, Governor Jammu Kashmir) के पांच सलाहकार (Advisor) हैं जो अलग अलग पहलुओं पर राज्य में अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह कर रहे हैं. अब ये सलाहकार राज्य के अलग अलग हिस्सों में जाएंगे और वहां जनता की समस्याओं को सुनेंगे. राज्यपाल के ये सलाहकार हैं के विजय कुमार (K Vijay Kumar), के के शर्मा, के स्कंदन, खुर्शीद गनई और फारुख खान. हालांकि पहले भी ये होता था लेकिन पहली बार ये इतने व्यापक स्तर पर किया जा रहा है.

जनता के बीच जाएंगे राज्यपाल के 5 सलाहकार
श्रीनगर में सलाहकार के विजय कुमार मंगलवार को, केके शर्मा शुक्रवार को, के स्कंदन सोमवार को और फारुक खान गुरुवार को सुबह 10 से 12 बजे के बीच में जनता की समस्याओं को सुनेंगे. जबकि जम्मू में के विजय कुमार गुरुवार को, केके शर्मा मंगलवार को, के स्कंदन शुक्रवार को और फारुक खान सोमवार को जनता की समस्या सुनेंगे. यहां भी सुनवाई का समय सुबह 10 से 12 बजे के बीच का रहेगा.

Kashmir - सप्ताह के अलग अलग दिन जनता के बीच जाएंगे राज्यपाल के पांचों सलाहकार
सप्ताह के अलग अलग दिन जनता के बीच जाएंगे राज्यपाल के पांचों सलाहकार (फाइल फोटो)


बिजली शिक्षा और स्वास्थ्य का ज़िम्मा
सरकारी कामकाज बेहतर तरीके से चले इसके लिए इन सलाहकारों को अलग अलग विभाग भी दिए गए हैं, इसमें बिजली, शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग प्रमुख हैं. इसके अलावा अब धीरे धीरे कर्फ्यू और टेलीफोन-मोबाइल पर से पाबंदी हटाई जा रही है. स्कूल और सरकारी दफ्तर भी खोले जा रहे हैं, ऐसी सूरत में पाबंदी के बाद जब जनता आम दिनचर्या की तरफ बढ़ रही है, तो सरकार की यही कोशिश है कि जनता की दिक्कतों को वो उनके पास जाकर समझें और उसको दूर करने का प्रयास करें.

विकास के लिए नीतियां बनेंगी
Loading...

साथ ही पहले की व्यवस्था की तरह कि जनता को किस तरीके की समस्या है, उसका समाधान कैसे किया जा रहा है और कितने दिन में उसका समाधान किया गया, इसका रिकार्ड भी प्रशासन अपने पास रख रहा है, ताकि आनेवाले दिनों में जम्मू कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के विकास के लिए नीतियां बनाई जा सकें. यही नहीं इन दोनों क्षेत्रों में भारत सरकार के विकास की जो परियोजनाएं चल रही हैं, वो समय पर पूरी हों इसपर भी सरकार खासा ध्यान दे रही है.

ये भी पढ़ें -
Opinion: तीन राज्यों के चुनाव से पहले फ्रंटफुट पर BJP, अमित शाह ने बनाया मास्टर प्लान
फुल एक्शन में आई मोदी सरकार! अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हो सकते हैं ये 4 ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...