पुणे की डरावनी तस्वीर, महज 8 दिनों में कोरोना ने उजाड़ा 5 लोगों का परिवार

जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से अस्पताल में भर्ती चार मरीजों की मौत की जांच शुरू कर दी है (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से अस्पताल में भर्ती चार मरीजों की मौत की जांच शुरू कर दी है (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus in Pune: डॉक्टर का कहना है कि उन्होंने अपने हर संभव कोशिश की सभी को सुरक्षित और जिंदा बचाने की, लेकिन कोरोना संक्रमण इतना ज्यादा शरीर में फैल चुका था कि पूरे परिवार में से 5 लोगों की मौत 8 दिन के अंदर हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 8:38 PM IST
  • Share this:
पुणे. पुणे में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर पिछले कई महीनों से जारी है. महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे में एक दर्दनाक घटना सामने आई है, जो किसी का मन भारी कर देगी. यहां काल बनकर आए कोरोना वायरस ने महज 8 दिनों में ही एक पूरा परिवार उजाड़ दिया. 8 दिनों में परिवार के 5 लोग जान गंवा चुके हैं. पीड़ितों में माता-पिता, पति-पत्नी और छोटा भाई शामिल है.

बताया जा रहा है कि सबसे पहले कोरोना वायरस का संक्रमण बड़े भाई को हुआ था, जिसके बाद उसकी हालत काफी ज्यादा खराब होती चली गई. बड़े भाई से यह संक्रमण उसके माता-पिता को मिला और बाद में उसकी पत्नी और छोटे भाई भी इस संक्रमण की चपेट में आ चुके थे. सभी पांचों परिवार वालों का इलाज पुणे के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा था, लेकिन एक-एक कर सभी की सांसे थमने लगी और 8 दिनों में ही पूरा परिवार खत्म हो गया.

Youtube Video


यह भी पढ़ें: पुणे: ब्रिगेडियर को खुदकुशी के लिए उकसाने के आरोप में चार सैन्य अधिकारियों पर केस दर्ज
इस दुखद घटना में दो बुजुर्ग शामिल हैं. डॉक्टर का कहना है कि उन्होंने अपने हर संभव कोशिश की सभी को सुरक्षित और जिंदा बचाने की, लेकिन कोरोना का कहर इतना ज्यादा था और संक्रमण इतना ज्यादा शरीर में फैल चुका था कि पूरे परिवार में से 5 लोगों की मौत 8 दिन के अंदर हो गई. महाराष्ट्र में बीते कई दिनों से रोज मिलने वाले संक्रमितों का आंकड़ा 50 हजार से ज्यादा पर बना हुआ है. पुणे जिले में हर दिन 9000 के आसपास कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं.



पुणे के हालात ऐसे हो गए हैं कि अब मरीजों को वेंटिलेटर और बेड काफी ज्यादा मुश्किलों से मिल रहा है. हालांकि, महाराष्ट्र सरकार और पुणे प्रशासन अपनी तरफ से हर संभव कोशिश कर रहा है कि जो कोरोना से संक्रमण मरीज हैं, उन्हें अच्छे से अच्छा इलाज मिल सके ताकि मौत का आंकड़ा कम हो सके. लेकिन इस घटना से कई लोग सहम गए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज