देश के 5 राज्यों में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर, 70 प्रतिशत मौतें यहीं पर

देश के 5 राज्यों में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर, 70 प्रतिशत मौतें यहीं पर
देश में कोविड-19 के 8,15,538 मरीज अभी इलाजरत हैं, कुल मामलों का तकरीबन 21.16 प्रतिशत है. (सांकेतिक फोटो)

Coronavirus Cases in India: स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़कर 38,53,406 हो गए हैं. इन मामलों का 62 प्रतिशत केसलोड देश के पांच राज्यों में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 5:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के पांच राज्यों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के एक्टिव मामलों का 62 प्रतिशत केसलोड है जिसमें महाराष्ट्र (Maharashtra) में सबसे ज्यादा मामले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के ओएसडी राजेश भूषण (Health Ministry's OSD Rajesh Bhushan) ने गुरुवार को बताया कि देश में तमिलनाडु (Tamilnadu), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), कर्नाटक (Karnataka), आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और महाराष्ट्र (Maharashtra) में देश के 62 प्रतिशत से ज्यादा एक्टिव मामले हैं. उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु और महाराष्ट्र में ही देश में कोरोना से होने वाली मौतों के 70 प्रतिशत मामले सामने आए हैं.

राजेश भूषण ने कहा कि हालांकि पांच राज्यों में देश के 62 प्रतिशत मामले हैं लेकिन फिर भी पिछले सप्ताह इन राज्यों में एक्टिव मामलों में कमी आई है. आंध्र प्रदेश में 13.7 प्रतिशत, कर्नाटक में 16.1 प्रतिशत, महाराष्ट्र में 6.8 प्रतिशत, तमिलनाडु में 23.9 प्रतिशत और उत्तर प्रदेश में 17.1 प्रतिशत एक्टिव मामलों में कमी देखी गई है. भूषण ने आगे कहा कि आंध्र प्रदेश में बीते सप्ताह में कोरोना से होने वाली मौतों में 4.5 प्रतिशत, महाराष्ट्र में 11.5 प्रतिशत, तमिलनाडु में 18.2 प्रतिशत की कमी देखी गई है.

राजेश भूषण ने बताया कि कर्नाटक और दिल्ली में कोरोना से होने वाली मौतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. जहां दिल्ली में प्रतिदिन के औसत के हिसाब से 50 प्रतिशत मौतों में अधिकता हुई है तो वहीं कर्नाटक में यह 9.6 प्रतिशत बढ़ी है.



ये भी पढ़ें :- कोविड-19 : विश्व में सबसे अधिक जांच करने वाले देशों में भारत भी, कल हुए 11 लाख से ज्यादा टेस्ट
महाराष्ट्र में एक्टिव मामलों में 7 प्रतिशत तक की कमी
महाराष्ट्र की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के ओएसडी ने कहा कि महाराष्ट्र में पिछले तीन हफ्तों में एक्टिव मामलों की संख्या में 7 प्रतिशत तक की कमी देखी गई है.

प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को लेकर राजेश भूषण ने कहा कि रोजाना मामले बढ़ रहे हैं लेकिन इसे हमें कुल जनसंख्या के आधार के हिसाब से देखना चाहिए. सरकार ने इकोनॉमी खोलने के लिए ग्रेडेड तरीका अपनाया है. इसके साथ ही टेस्टिंग की दरें भी बढ़ाई गई हैं और क्लीनिकल ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल के लिए स्पष्ट गाइडलाइंस बनाई हैं.

प्रति दस लाख आबादी पर कम मामले
राजेश भूषण ने कहा कि दुनिया के अन्य देशों से यदि तुलना की जाए तो प्रति 10 लाख की जनसंख्या पर भारत में कम मामले हैं. प्रति दस लाख पर होने वाली मौतें दुनिया में सबसे कम हैं. देश में प्रति दस लाख लोगों में 49 लोगों की मौत हो रही है.

गौरतलब है कि भारत में कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक 83,883 नए मामले सामने आने के बाद बृहस्पतिवार को देश में संक्रमितों की कुल संख्या 38 लाख को पार कर गई. वहीं, अभी तक 29,70,492 मरीजों के ठीक होने से स्वस्थ होने वाले लोगों की दर 77 प्रतिशत के पार पहुंच गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार देश में कोविड-19 के मामले बढ़कर 38,53,406 हो गए हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे मे 1,043 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 67,376 हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज