अपना शहर चुनें

States

हैदराबाद की 5 महिलाओं को ट्रैवल एजेंट ने दुबई ले जाकर बेच दिया! परिजनों ने सरकार से मांगी मदद

हैदराबाद में महिलाओं दुबई में फंसी, परिजनों ने मांगी सरकार से मदद.
हैदराबाद में महिलाओं दुबई में फंसी, परिजनों ने मांगी सरकार से मदद.

परिजनों का आरोप है कि सफी नाम का एक ट्रैवल एजेंट (Travel Agent) उनकी बेटी को दुबई (Dubai) में नौकरी (job) दिलाने के लिए ले गया था, लेकिन अब उसे वहां पर प्रताड़ित किया जा रहा है.

  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) के हैदराबाद (Hyderabad) की रहने वाली पांच महिलाएं संयुक्त अरब अमीरात के शहर दुबई (Dubai) में फंस गई हैं. इन महिलाओं की वतन वापसी के लिए उनके परिजनों ने अब भारत सरकार (Government of India) से मदद की गुहार लगाई है. बदरुनिसा नाम की महिला ने एक शिकायत में कहा है कि सफी नाम का एक ट्रैवल एजेंट (Travel Agent) उनकी बेटी को दुबई में नौकरी दिलाने के लिए ले गया था लेकिन अब उसे वहां पर प्रताड़ित किया जा रहा है.

एक अन्य महिला शमीना बेगम ने बताया है कि ट्रैवल एजेंट सफी ने इस साल अक्टूबर में मेरी बहन को नौकरी दिलाने के लिए दुबई भेजा था लेकिन वहां पर उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. मेरी बहन भारत वापस आना चाहती है लेकिन उसे वापस भी नहीं आने दिया जा रहा है. शमीना बेगम ने भारत सरकार से गुहार लगाई है कि उनकी बहन को जल्द से जल्द भारत लाने में मदद करें. शमीना बेगम ने बताया कि एजेंट ने उनकी बहर को स्थानीय एजेंट के जरिए मेड की नौकरी के लिए दुबई भेजा था.

उन्होंने बताया कि दुबई में उससे वो काम नहीं लिया जा रहा, जिसके लिए वो दुबई गई थी. जब हमें अपनी बच्चियों के बारे में पता चला तो हमनें एजेंट से बात की लेकिन वह उन्हें वापस लाने के लिए 1.50 लाख रुपये की मांग कर रहा है. हम सभी गरीब परिवारों से हैं और इन्हें वापस लाने के लिए इतनी रकम नहीं दे सकते. हम भारत सरकार से सभी बच्चियों को बचाने और सुरक्षित हैदराबाद लाने का आग्रह करते हैं.
इसे भी पढ़ें :- EXCLUSIVE: हैदराबाद चुनाव पर तेजस्‍वी सूर्या बोले- हम 4 से 40 पार, ओवैसी से वैचारिक शत्रुता



सामाजिक कार्यकर्ता अमजद उल्लाह खान ने एएनआई को बताया कि तेलंगाना के मिसरीगंज के रहने वाले सफी नामके स्थानीय ट्रैवल एजेंट ने इन परिवार वालों को दुबई में स्थित एक शॉपिंग मॉल में सेल्सविमेन की नौकरी का प्रस्ताव दिया था. इसके बाद तीन महीने के विजिट वीजा पर पांचों महिलाओं को अक्टूबर, 2020 में दुबई ले जाया गया और इन महिलाओं को लेबर रिक्रूटमेंट कंपनी में काम करने वाले अल सफीर को सौंप दिया गया. उन्होंने बताया कि इन महिलाओं को इसके बाद 2-2 लाख रुपये में घर में काम करने के लिए कुछ अरब परिवारों को बेच दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज