अपना शहर चुनें

States

5 साल का बच्चा दिल्ली से फ्लाइट पकड़ अकेले पहुंचा बेंगलुरु, 3 माह बाद बेटे को देख मां का हुआ ऐसा हाल...

पांच साल का विहान शर्मा अकेले ही दिल्ली से आ गया बेंगलुरु.
पांच साल का विहान शर्मा अकेले ही दिल्ली से आ गया बेंगलुरु.

कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच विहान शर्मा तीन महीने पहले दिल्ली अपने दादा दादी के पास आया था, तभी देश में लॉकडाउन (Lockdown) हो गया और वो वहीं फंस गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (coronavirus) के संक्रमण को कम करने के लिए पिछले दो महीने से लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है. लॉकडाउन के दौरान किसी को भी घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं दी गई है. लॉकडाउन के दौरान न तो ट्रेन चलाने की इजाजत थी और न ही विमान सेवाएं शुरू करने की. दो महीने बाद एक बार फिर देश में घरेलू विमान सेवाओं (Domestic Airline) को शुरू करने की इजाजत दे दी गई.

सोमवार को जब दिल्ली से पहली उड़ान बेंगलुरु के लिए उड़ी तो एयरपोर्ट का नजारा ही कुछ और था. फ्लाइट में सभी यात्रियों के साथ एक पांच साल का बच्चा भी सफर कर रहा था. खास बात ये थी कि यह बच्चा विमान में अकेले ही सफर कर रहा था. विहान शर्मा नाम का ये बच्चा तीन महीने पहले अपने माता-पिता के साथ दिल्ली अपने दादा-दादी से मिलने आया था. कुछ दिन बाद विहान के माता-पिता उसे दादा-दादी के पास छोड़कर वापस आ गए. इसके कुछ ही दिन बाद देश में लॉकडाउन हो गया.

विहान की मां मंजरी शर्मा ने बताया कि पिछले तीन महीने से विहान अपने दादा दादी के पास ही था. सोमवार को जैसे ही दिल्ली से फ्लाइट शुरू करने की बात कही गई तो विहान की मां ने तुरंत उसका टिकट बुक कराया. इसके बाद 5 साल की उम्र में विहान ने दिल्ली से बेंगलुरु तक का सफर अकेले ही तय किया. विहान को लेने के लिए मंजरी एयरपोर्ट पहुंची थीं. विहान को फ्लाइट स्टाफ ने उनकी मां तक सुरक्षित पहुंचाया. बताया जाता है कि ​विहान को देखते ही मंजरी की आंखों में आंसू आ गए. हालांकि, उन्होंने पूरी सावधानी बरतते हुए उसे गले नहीं लगाया.



बता दें कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के कारण दो महीने तक बंदी के बाद सोमवार से फिर घरेलू उड़ानें शुरू होंगी. नागर उड्डयन मंत्रालय ने यात्रियों और एयरलाइंस के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं, जिससे यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित हो पाए.
News18 Polls: लॉकडाउन खुलने पर ये काम कबसे और कैसे करेंगे आप?


कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, बिहार, पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, गोवा और जम्मू-कश्मीर उन कुछ राज्यों में से हैं, जिन्होंने उनके राज्य के हवाई अड्डों पर उतरने वाले यात्रियों के लिए अलग-अलग पृथक-वास के नियम तय किए हैं. कुछ राज्यों ने जहां यात्रियों को अनिवार्य संस्थागत पृथक-वास केन्द्रों में रखने का फैसला लिया है, वहीं कई अन्य ने उन्हें घर और पृथक-वास केन्द्रों में रखने की बात कही है.

इसे भी पढ़ें :-

कोरोना: महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या 50 हज़ार के पार, मुंबई में 60% केस
5 राज्यों में रेड अलर्ट! 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है तापमान
दिल्ली पुलिस 916 विदेशी तबलीगी ज़मातियों के खिलाफ दायर करेगी चार्जशीट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज