होम /न्यूज /राष्ट्र /कोविशील्ड की 50 लाख डोज खराब होने की खबरें वायरल, केंद्र सरकार ने बताया सच

कोविशील्ड की 50 लाख डोज खराब होने की खबरें वायरल, केंद्र सरकार ने बताया सच

कोविशील्ड वैक्सीन (AP)

कोविशील्ड वैक्सीन (AP)

50 lakh Covishield doses are safe, Govt clarifies: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मीडिया में चल रही उन खबरों को गलत बता ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) ने मीडिया में आई उन खबरों का खंडन किया है जिसमें दावा किया गया था कि इस महीने के आखिरी तक उपयोग में नहीं आने वाली कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की 50 लाख खुराकें खराब हो सकती है. सरकार ने गुरुवार को ऐसी खबरों को गुमराह करने वाली खबरें करार दिया है. मंत्रालय ने कहा कि केन्द्र ने बेहद सक्रियता दिखाते हुए सभी राज्य सरकारों को टीकों की उपलब्धता की समीक्षा करने की सलाह दी थी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि टीकों (Vaccine) की बर्बादी कम से कम हो.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले साल नवंबर में राज्यों से कहा था कि वे नियमित रूप से उन टीकों की स्थिति की समीक्षा करें जिनकी आने वाले महीनों में इस्तेमाल की अवधि समाप्त होने की उम्मीद है, लेकिन वे निजी अस्पतालों में उपलब्ध हैं. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि राज्यों को यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया था कि सरकारी और निजी प्रतिष्ठानों दोनों में टीके की कोई भी खुराक एक्सपायर (खराब) नहीं होनी चाहिए.

Corbevax, Covovax को लैब से मिली मंजूरी, NTAGI की मुहर बाकी, बच्चों के वैक्सीनेशन अभियान में होंगी शामिल

राज्यों को सलाह दी गई थी कि वे टीके की खुराक के इस्तेमाल के संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अथवा प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) के स्तर पर निजी अस्पतालों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करें.

बयान में यह भी कहा गया, “इसके अलावा टीकों को खराब होने से रोकने और टीके की कोई खुराक बर्बाद नहीं हो यह सुनिश्चित करने के लिए विशिष्ट राज्यों के अनुरोध पर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने
स्पष्ट किया था कि उन्हें निजी क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं से राज्य सरकार की स्वास्थ्य सुविधाओं में टीके हस्तांतरित करने के प्रस्ताव पर कोई आपत्ति नहीं है. ’’ बयान में कहा गया कि इस संबध में अनेक राज्यों के साथ चर्चा भी की गयी थी.

Tags: Coronavirus, Covishield, Omicron

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें