होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP: आधी रात से खाद के लिए लाइन में खड़े किसानों पर लाठीचार्ज, प्रशासन की कमी के कारण सूख रहे खेत!

UP: आधी रात से खाद के लिए लाइन में खड़े किसानों पर लाठीचार्ज, प्रशासन की कमी के कारण सूख रहे खेत!

जिले में 2 दिनों से डीएपी खाद की उपलब्धता न होने के कारण किसानों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

जिले में 2 दिनों से डीएपी खाद की उपलब्धता न होने के कारण किसानों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

UP New: खाद केंद्र के बाहर प्रशासन की अव्यवस्था के चलते किसानों को खाद लेने के लिए धक्का-मुक्की तक करना पड़ रहा है. जि ...अधिक पढ़ें

चित्रकूट. उत्तप्रदेश के चित्रकूट जनपद में डीएपी खाद की भारी किल्लत देखने को मिल रही है. खाद केंद्रों पर डीएपी खाद लेने के लिए किसानों को लंबी लंबी लाइने लगाने के लिए मजबूर है. खाद केंद्र के बाहर प्रशासन की अव्यवस्था के चलते किसानों को खाद लेने के लिए धक्का-मुक्की तक करना पड़ रहा है. जिसपर किसानों को काबू पाने के लिए पुलिस को लाठी तक भांजनी पड़ी है. इसकी तस्वीरें भी कैमरे में कैद हो गई हैं.

बता दें, जिले में 2 दिनों से डीएपी खाद की उपलब्धता न होने के कारण किसानों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ा है. जिले में डीपी खाद की रैक आने की वजह से कई खाद केंद्रों पर सोमवार की रात डीएपी बांटी जा रही थी जहां किसान डीएपी खाद लेने के लिए लंबी-लंबी लाइनों पर खड़े हुए थे. शहर के गल्ला मंडी स्थित खाद केंद्र में किसान सुबह से ही लंबी-लंबी लाइनों पर खड़ा होकर खाद लेने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे.

इस दौरान प्रशासन के ढीले रवैए के चलते लाइनों में खड़े किसान बेकाबू हो गए और एक दूसरे को धक्का मुक्की देकर प्रशासन द्वारा खाद केंद्र के बाहर लगाए गए गेट को जबरन खोल कर अंदर घुस गए, जिस पर पुलिस ने कई किसानों पर लाठियां भांजी हैं. यह आलम किसी एक खाद केंद्र का नहीं रहा  ऐसे कई खाद केंद्र हैं, जहां कि को डीएपी खाद लेने के लिए सुबह से ही लंबी लाइनर लगाने के लिए मजबूर हैं. किसानों का कहना है कि जिले में डीएपी खाद की किल्लत है खाद ना मिलने की वजह से वह अपने खेतों में पलेवा नहीं लगा पा रहे हैं. वह  खाद लेने के लिए सुबह से ही लंबी लंबी लाइन लगाए हुए हैं. यहां तक कि कुछ किसान रातभर खाद केंद्र के बाहर लेट कर सुबह खाद लेने के लिए इंतेजार करते है और सुबह होते ही खाद लेने के लिए वह लाइन पर खड़े हो जाते है. बावजूद उनको खाद नहीं मिल पा रहा है.

दरअसल प्रशासन ने पहले उनके आधार कार्ड जमा करवा लिए बाद में उनके आधार कार्ड को फेंक दिया  जिससे अव्यवस्था होने के कारण जो पहले किसान आए थे. उनको लास्ट में लगा दिया गया है. यही वजह रही कि सभी किसानों को सही समय पर  खाद नहीं मिल पा रही है प्रशासन की यह आव्यवस्था से किसानों को खाद लेने में काफी संघर्ष करना पड़ रहा है वहीं इस मामले में जिला प्रशासन ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया है।

Tags: Chitrakoot News, Farmer Protest, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें