• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 6 महीने में बदल गए 6 मुख्‍यमंत्री- क्‍या ये भारतीय राजनीति का न्‍यू नॉर्मल है?

6 महीने में बदल गए 6 मुख्‍यमंत्री- क्‍या ये भारतीय राजनीति का न्‍यू नॉर्मल है?

चरणजीत सिंह चन्‍नी बने पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री. (Pic- News18)

चरणजीत सिंह चन्‍नी बने पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री. (Pic- News18)

Chief Ministers: मार्च से लेकर अब तक उत्‍तराखंड, असम, कर्नाटक, गुजरात और अब पंजाब में मुख्‍यमंत्री बदले गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. देश में मार्च से लेकर अब तक पांच राज्‍यों के 6 मुख्‍यमंत्री (Chief Ministers) बदले जा चुके हैं. अब ऐसा दिख रहा है कि राजनीतिक दलों (Political Parties) के बीच यह ट्रेंड लोकप्रिय हो रहा है. गौर करने वाली बात यह है कि इनमें से पांच नेताओं को उनका कार्यकाल पूरा होने से पहले ही हटा दिया गया. मार्च से लेकर अब तक उत्‍तराखंड, असम, कर्नाटक, गुजरात और अब पंजाब में मुख्‍यमंत्री बदले गए हैं.

    मुख्यमंत्री को बदलना भारतीय राजनीति में बहुत ही नई घटना है, जहां सीएम बिना किसी ब्रेक के पांच साल का कार्यकाल पूरा करते रहे हैं. विशेष रूप से जब किसी पार्टी के पास बहुमत होता है, तो यह संभावना नहीं होती कि मुख्यमंत्री अपने कार्यकाल से पहले बदल जाएगा. हालांकि कुछ अलग परिस्थितियों में ऐसा होता है.

    पवन कुमार चामलिंग आजादी के बाद किसी भी भारतीय राज्य के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे हैं. सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के संस्थापक अध्यक्ष चामलिंग ने 1994 और 2019 के बीच सिक्किम पर शासन किया. उनके बाद ज्योति बसु हैं, जिन्होंने 1977 और 2000 के बीच पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया.

    वर्ष 2000 में अपना कार्यकाल शुरू करने वाले ओडिशा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक दो दशकों से अधिक समय से राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य कर रहे हैं. माणिक सरकार ने 1998 से 2018 तक त्रिपुरा पर शासन किया. इस सूची में राजस्थान में मोहन लाल सुखाड़िया (1954-1971), छत्तीसगढ़ में रमन सिंह (2003-2018), दिल्ली में शीला दीक्षित (1998-2013), असम में तरुण गोगोई (2001-2016) भी शामिल हैं. मणिपुर में ओकराम इबोबी सिंह (2002-2017) और गुजरात में नरेंद्र मोदी (2001-2014) भी इस सूची में हैं.

    मार्च से अब तक बदले गए हैं ये मुख्‍यमंत्री-

    उत्‍तराखंड में त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह तीरथ सिंह रावत
    मुख्‍यमंत्री के रूप में अपना चौथा साल पूरा करने से पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत को मार्च में लोकसभा सांसद तीरथ सिंह द्वारा बदला गया. राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. रावत की कार्यशैली को लेकर बीजेपी की राज्य इकाई में कथित रूप से बढ़ती बेचैनी सहित उनके बाहर निकलने के कई कारण बताए गए. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 2017 से उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया था.

    असम में सर्बानंद सोनोवाल को हटाकर हिमंत बिस्‍व सरमा को बनाया सीएम
    सोनोवाल द्वारा अपना कार्यकाल पूरा करने और राज्य में मई में चुनाव होने के बाद हिमंत बिस्‍व सरमा ने उनकी जगह ली. बीजेपी सत्ता में फिर से चुनी गई और उन्होंने सरमा को प्रभार देने का फैसला किया, जो पूर्वोत्तर में भगवा पार्टी की प्रगति के सारथी थे.

    उत्‍तराखंड में तीरथ सिंह रावत की जगह लाए गए पुष्‍कर सिंह धामी
    उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के चार महीने से भी कम समय में तीरथ सिंह रावत ने जुलाई में अपना इस्तीफा सौंप दिया था. उनके बाहर निकलने के कारणों में शपथ लेने के छह महीने के भीतर उन्हें विधानसभा के लिए निर्वाचित करने में पार्टी की अक्षमता शामिल थी. विधानसभा का कार्यकाल मार्च 2022 में समाप्त हो रहा है और चूंकि यह एक वर्ष से कम है, इसलिए चुनाव आयोग विधानसभा में खाली सीटों के लिए उपचुनाव का आदेश नहीं दे सकता है. लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत किसी सदन का कार्यकाल एक वर्ष से कम होने पर किसी सीट के लिए उपचुनाव नहीं होना चाहिए. पुष्कर सिंह धामी को राज्य बीजेपी विधायक दल द्वारा उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया था.

    कर्नाटक में बीएस येडियुरप्‍पा की जगह बसवराज बोम्‍मई ने ली
    कर्नाटक में जुलाई में येडियुरप्पा ने दो साल के कार्यकाल के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. कर्नाटक में 2023 में चुनाव होने हैं. 78 वर्षीय येडियुरप्पा ने 75 साल पर पार्टी के रिटायरमेंट के नियम को पार कर लिया था.

    गुजरात में विजय रूपाणी की जगह आए भूपेंद्र पटेल
    रूपाणी ने 2016 और 2021 के बीच गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया. उन्होंने इस बार अपना कार्यकाल पूरा नहीं किया, लेकिन उन्हें पिछले विधानसभा में 1.5 साल सहित पांच साल का कार्यकाल पूरा करने का मौका मिला. उन्होंने अगस्त 2016 में इसी तरह की परिस्थितियों में आनंदीबेन पटेल की जगह ली थी. राज्य में दिसंबर 2017 में चुनाव हुए थे.

    अब पंजाब में कैप्‍टन अमरिंदर की जगह आए चरणजीत सिंह चन्‍नी
    देश में अभी तक बीजेपी शासित प्रदेशों में मुख्यमंत्रियों को बदला जा रहा था, वहीं अब कांग्रेस ने भी मध्यावधि में अपना मुख्यमंत्री बदल दिया है. राज्य में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होने हैं. कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का दूसरा कार्यकाल पूरा होने से पहले ही राज्‍य में उनकी जगह दलित नेता को पद दे दिया गया. इससे पहले अमरिंदर सिंह ने 2002 और 2007 के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया था. 1997 के बाद वह पंजाब के पहले मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज