Assembly Banner 2021

सचिन वाजे के घर से मिले 62 कारतूस, जांच में सहयोग न करने के लगे आरोप

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

Sachin Waze Case: सरकारी वकील ने कहा है कि NIA को वाजे के घर से 62 कारतूस बरामद हुए हैं. साथ ही उन्होंने जानकारी दी है कि 25 सरकारी कारतूसों में से केवल 5 का पता लगा है. उन्होंने कहा कि वाजे 25 के बारे में जानकारी नहीं दे रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 12:01 AM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई विस्फोटक मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने जारी जांच के दौरान पूर्व पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के घर का रुख किया. इस दौरान वाजे के घर से 62 कारतूस बरामद किए गए हैं. इस बात की जानकारी सरकारी वकील ने दी है. वाजे पर मुंबई विस्फोटक और बरामद स्कॉर्पियो कार के मालिक मनसुख हिरेन की मौत के मामले में शामिल होने के आरोप हैं.

सरकारी वकील ने कहा है कि NIA को वाजे के घर से 62 कारतूस बरामद हुए हैं. साथ ही उन्होंने जानकारी दी है कि 25 सरकारी कारतूसों में से केवल 5 का पता लगा है. उन्होंने कहा कि वाजे 25 के बारे में जानकारी नहीं दे रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने वाजे पर कई सीसीटीवी कैमरा के डीवीआर को खत्म करने के आरोप भी लगाए हैं.

Youtube Video




कोर्ट में वकील ने वाजे पर कई आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा है कि वो जांच में मदद नहीं कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि FSL की रिपोर्ट से यह साबित हो गया है कि संदिग्ध कार में जिलेटिन ही था. मामले में शामिल आरपियों के DNA सैंपल लिए गए है. खास बात है कि NIA ने वाजे और अन्य लोगों के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रिवेंशन एक्ट यानि UAPA लगाई है.
इस पर कोर्ट ने NIA से सवाल किया है. अदालत ने पूछा है कि बम नहीं होने के बावजूद UAPA कैसे लगाया गया है. कोर्ट ने कहा कि NIA पहले यह साफ करे कि इस मामले में UAPA कैसे लगा. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि जिलेटिन मिला है, वो एक एक्सप्लोसिव है, न की बम. बिना डेटोनेटर के जिलेटिन नहीं फट सकता. जब बम ही नहीं है तो UAPA कैसे लगा दिया?

मुंबई में स्कॉर्पियो में मिले विस्फोटक मामले में सचिन वाजे को गिरफ्तार किया गया है. बंगले के पास बीती 25 फरवरी को कार बरामद हुई थी. गाड़ी के मालिक मनसुख हिरेन की कुछ दिनों बाद लाश मिली थी. हिरेन की मौत के मामले में भी वाजे का नाम आया था. जिसके बाद उन्हें 25 मार्च तक के लिए NIA की कस्टडी में भेज दिया था. उस पर विस्फोटक से लदी गाड़ी को मौके तक पहुंचाने का आरोप है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज