'श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 61.19 लाख यात्रियों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया गया'

पीयूष गोयल ने कहा, ‘कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिये 23 मार्च से भारतीय रेलवे ने सभी यात्री गाड़ियां रद्द कर दी थीं.
पीयूष गोयल ने कहा, ‘कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिये 23 मार्च से भारतीय रेलवे ने सभी यात्री गाड़ियां रद्द कर दी थीं.

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कहा है- एक मई से 31 अगस्त 2020 तक चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) के जरिये 61.19 लाख यात्रियों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 10:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने सोमवार को बताया कि एक मई से 31 अगस्त 2020 तक चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) के जरिये 61.19 लाख यात्रियों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया गया. लोकसभा में तेजस्वी सूर्या, अजय मिश्र टेनी, प्रताप सिम्हा, रीति पाठक और अपराजिता सारंगी के प्रश्नों के लिखित उत्तर में रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने यह जानकारी दी.

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को मिशन मोड में चलाया गया
पीयूष गोयल ने कहा, ‘कोविड-19 वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिये 23 मार्च से भारतीय रेलवे ने सभी यात्री गाड़ियां रद्द कर दी थीं. बहरहाल, फंसे हुए व्यक्तियों की आवाजाही की तात्कालिक आवश्यकता को देखते हुए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को मिशन मोड में चलाया गया था.’ उन्होंने कहा, ‘एक मई से 31 अगस्त 2020 तक चलाई गई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिये 61.19 लाख यात्रियों को उनके गृह राज्यों तक पहुंचाया गया.’

लगभग 433 करोड़ रूपए किराया वसूल किया गया
रेल मंत्री ने कहा कि एक मई से 31 अगस्त 2020 तक श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलाने के लिये राज्य सरकारों और राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों से लगभग 433 करोड़ रूपये किराया वसूल किया गया. उन्होंने कहा कि रेलवे ने श्रमिक स्पेशल गाड़ियां चलाने पर किये गए खर्च की कुछ हद तक भरपाई की है और इसके फलस्वरूप इन गाड़ियों के परिचालन से हानि हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज