2 महीने बाद शुरू हुईं घरेलू उड़ानें, पहले दिन ही राज्‍यों की पाबंदी से 630 फ्लाइट कैंसिल

2 महीने बाद शुरू हुईं घरेलू उड़ानें, पहले दिन ही राज्‍यों की पाबंदी से 630 फ्लाइट कैंसिल
देश में शुरू हुईं घरेलू उड़ान.

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep singh puri) ने जानकारी दी कि सोमवार को 532 फ्लाइट (Domestic Flights) का संचालन हुआ और 39,231 यात्रियों ने सफर किया.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (CoronaVirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के कारण 2 महीने से बंद चल रही घरेलू उड़ानें (Domestic Flights) सोमवार को शुरू हो गई हैं. हालांकि दो राज्‍यों पश्चिम बंगाल (West Bengal) और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में सेवाएं 25 मई को नहीं शुरू हुईं. इनके अलावा भी कुछ राज्‍यों ने घरेलू उड़ानों को लेकर कुछ पाबंदियां लगाई हैं. ऐसे में सोमवार को पहले दिन ही बड़ी संख्‍या में फ्लाइट कैंसिल हुई हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने विमानन इंडस्‍ट्री से जुड़े सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि 25 मई को देशभर में करीब 630 घरेलू उड़ानें कैंसिल करनी पड़ी हैं. ऐसा राज्‍यों के कारण लगाई गईं पाबंदियों के कारण हुआ है. नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने जानकारी दी कि सोमवार को 532 फ्लाइट का संचालन हुआ और 39,231 यात्रियों ने सफर किया.

दिल्‍ली एयरपोर्ट में 82 उड़ान रद्द
सोमवार को नागर विमानन अधिकारियों की सख्त गाइडलाइंस के तहत पहले विमान ने दिल्ली एयरपोर्ट से पुणे के लिए सुबह पौने पांच बजे उड़ान भरी जबकि मुंबई हवाई अड्डे से पहली उड़ान पौने सात बजे पटना के लिए भरी गई. देश भर में सोमवार को कई उड़ानें रद्द भी कर दी गईं.




विमानन उद्योग के सूत्रों ने बताया कि दिल्ली हवाईअड्डे पर आने और जाने वालीं अब तक करीब 82 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं. महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु जैसे राज्य जहां देश के सबसे व्यस्ततम हवाईअड्डे हैं, वे अपने राज्यों में कोरोना वायरस संक्रमण मामले बढ़ने का हवाला देकर हवाईअड्डों से घरेलू विमान सेवा शुरू करने के लिए इच्छुक नहीं हैं.

 



आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल ने नहीं की शुरुआत
पश्चिम बंगाल ने विमान सेवा शुरू करने की अनुमति देने के नागर विमानन मंत्रालय के अनुरोध को स्वीकार नहीं किया. रविवार को यह तय किया गया था कि सख्त दिशा-निर्देशों के तहत राज्य 28 मई से धीरे-धीरे घरेलू विमान सेवा को अनुमति देना शुरू करेगा. आंध्र प्रदेश में भी सोमवार को किसी विमान के परिचालन की अनुमति नहीं दी गई. चक्रवात प्रभावित पश्चिम बंगाल में कोलकाता और बागडोगरा हवाईअड्डे 25 से 27 मई के बीच किसी घरेलू विमान का परिचालन नहीं करेंगे लेकिन 28 मई से हर दिन 20 उड़ानों का परिचालन देखेंगे.

नियम और शर्तें भी हैं लागू
एयरलाइन कंपनियां सेवाएं फिर से शुरू करने को लेकर आशंकित थी क्योंकि कई राज्यों ने घरेलू विमानों से पहुंचने वाले यात्रियों को पृथक-वास में रखने के लिए अलग नियम एवं शर्तें लागू की हैं. इनमें टिकट की कीमतों को सीमित करना, यात्रियों द्वारा मास्क पहनना, विमान के भीतर खाना नहीं दिए जाने और आरोग्य सेतु ऐप या स्व-घोषणा वाले फॉर्म के जरिए यात्रियों द्वारा चिकित्सीय स्थिति के विवरण उपलब्ध कराना जैसे नियम शामिल थे.

हरदीप सिंह पुरी ने उठाए क्‍वारंटाइन पर सवाल
नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यात्री के फोन में आरोग्य सेतु ऐप में ग्रीन स्थिति दिखने के बावजूद उसे पृथक-वास में रखने की जरूरत पर सवाल उठाए. ग्रीन स्थिति दिखाती है कि यात्री कोविड-19 से सुरक्षित है. यह ऐप उपयोगकर्ताओं की स्वास्थ्य स्थिति और यात्रा इतिहास के आधार पर उन्हें रंगों के हिसाब से अलग-अलग श्रेणी में रखता है. यह उपयोगकर्ताओं की यह जानने में मदद करता है कि उनके आस-पास कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं.

मुंबई पहुंचे 1900 यात्री
मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के अनुसार सोमवार को मुंबई एयरपोर्ट पर करीब 1900 यात्री पहुंचे. जानकारी दी गई कि मुंबई और हैदराबाद एयरपोर्ट से सोमवार से क्रमश: 50 और 30 फ्लाइटों का संचालन होगा.

इंडिगो की फ्लाइट्स में 20000 यात्रियों ने किया सफर
इंडिगो के अध्यक्ष एवं मुख्य परिचालन अधिकारी वोल्फगैंग प्रोक शाउएर पहले दिन परिचालनों को देखने के लिए दिल्ली हवाईअड्डे पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि एयरलाइन का संचालन सुगम रूप से हो रहा है और यात्री आरामदेह महसूस कर रहे थे क्योंकि सोमवार को भीड़ कम थी. इंडिगो के एक प्रवक्ता ने कहा कि एयरलाइन के विमानों से करीब 20,000 यात्रियों ने सफर किया.

स्पाइसजेट ने कहा कि उसके पहले विमान ने सोमवार को अहमदाबाद से सुबह छह बजकर पांच मिनट पर उड़ान भरी और सात बजकर 10 मिनट पर दिल्ली पहुंचा. कंपनी ने यह भी बताया कि उसने क्षेत्रीय संपर्क की उड़ान योजना के तहत निर्धारित मार्गों पर सोमवार को 20 विमानों का परिचालन किया.

News18 Polls: लॉकडाउन खुलने पर ये काम कबसे और कैसे करेंगे आप?


लोग हुए परेशान
सोमवार के लिए निर्धारित करीब 1,050 घरेलू विमान के लिए बुकिंग शुरू की गई थी लेकिन रविवार को संशोधित कदमों की घोषणा के चलते कई विमानों को रद्द करना पड़ा जिसके चलते सैकड़ों यात्री मायूस हो गए. जिन विमानों को एक-तिहाई क्षमता से परिचालन की अनुमति दी गई थी, वे रविवार रात से विमान समय-सारणियों पर फिर से काम करने में व्यस्त थे.

यह भी पढ़ें: भारत दे रहा चीन को करारा जवाब, लद्दाख में LAC पर बढ़ाई सैनिकों की संख्‍या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज