कोरोना से जंग में भारत को मिला विश्व का साथः 6,738 ऑक्सीजन सांद्रक, 3,856 सिलेंडर की मिली मदद

बीते दिन हांगकांग से इंडिगो की फ्लाइट में कुल 300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और अन्य मेडिकल उपकरण भारत पहुंचे हैं.

बीते दिन हांगकांग से इंडिगो की फ्लाइट में कुल 300 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और अन्य मेडिकल उपकरण भारत पहुंचे हैं.

Corona Situation in India: भारत सरकार को कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से निपटने में मदद के लिए 27 अप्रैल से विभिन्न देशों और संगठनों से चिकित्सकीय सामग्री और उपकरणों की खेप मिल रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के दूसरी लहर से भारत में बिगड़े हालातों को सुधारने के लिए दुनिया ने मदद के हाथ बढ़ाए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि विदेश से मदद के रूप में 6,738 ऑक्सीजन सांद्रक, 3856 ऑक्सीजन सिलेंडर, 16 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र के उपकरण और रेमडेसिविर की करीब तीन लाख शीशियां मिली है. चिकित्सकीय सामग्री और उपकरणों की खेप विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आवंटित कर उन्हें भेज दी गयी है.

भारत सरकार को कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से निपटने में मदद के लिए 27 अप्रैल से विभिन्न देशों और संगठनों से चिकित्सकीय सामग्री और उपकरणों की खेप मिल रही है. मंत्रालय ने बताया कि 27 अप्रैल से आठ मई के बीच विदेश से मदद के तौर पर 6,738 ऑक्सीजन सांद्रक, 3856 ऑक्सीजन सिलेंडर, 4688 वेंटिलेटर, बीपैप मशीनें, 16 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र के उपकरण और रेमडेसिविर की करीब तीन लाख शीशियां आपूर्ति की गयी है.

स्वास्थ्य मंत्रालय कर रहा है निगरानी

मंत्रालय ने कहा, ‘‘राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को तुरंत चिकित्सकीय सामान का आवंटन कर खेप भेजी जा रही है. यह प्रक्रिया लगातार चल रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय लगातार इसकी निगरानी कर रहा है.’’ अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नयी दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर रणदीप गुलेरिया ने कोविड-19 महामारी से निपटने में वेंटिलेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, सांद्रक जैसे जरूरी चिकित्सा उपकरण भेजने वाले देशों का शुक्रिया अदा किया है.


सिंगापुर से ऑक्सीजन कंटेनर्स को किया गया एयरलिफ्ट

वायुसेना ने बीते दिन अपने C-17 के जरिए तीन ऑक्सीजन कंटेनर्स को सिंगापुर से एयरलिफ्ट किया. इन्हें सिंगापुर से पनगढ़ पहुंचाया गया. वहीं, 6 कंटेनर्स को दुबई से लाया गया है. इसके अलावा कुल तीन कंटेनर्स को बैंकॉक से एयरलिफ्ट किया गया. वायुसेना सेना के द्वारा सिर्फ विदेश ही नहीं, बल्कि देश के अंदर भी कंटेनर्स को एक शहर से दूसरे शहर में पहुंचाया जा रहा है.



(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज