कोरोना वायरस: गुजरात में एक दिन में सबसे ज्यादा 675 नए केस, अब तक 1869 लोगों की मौत

गुजरात में कोरोना वायरस के आज सर्वाधिक 675 नए मामले सामने आए
गुजरात में कोरोना वायरस के आज सर्वाधिक 675 नए मामले सामने आए

गुजरात (Gujarat) में कोविड-19 (Covid-19) से 21 लोगों की मौत हो गई, जिसके साथ ही राज्य में मृतकों की संख्या 1,869 हो गई है.

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) में बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के सबसे अधिक 675 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 33,318 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग ने बताया कि आज कोविड-19 (Covid-19) से 21 लोगों की मौत हो गई, जिसके साथ ही राज्य में मृतकों की संख्या 1,869 हो गई है. इसके अलावा 368 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद गुजरात में ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या 24,038 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग ने अपनी दैनिक विज्ञप्ति में कहा कि राज्य में अब भी 7,411 लोग वायरस से संक्रमित हैं. 63 रोगी वेंटिलेटर पर हैं. गुजरात में कोविड-19 से संबंधित आंकड़े इस प्रकार हैं: कुल 33,318 लोग संक्रमित, संक्रमण के 675 नए मामले, अब तक 1,869 लोगों की मौत, कुल 24,038 लोगों को छुट्टी मिली, अब भी 7,411 लोग संक्रमित, 3,80,640 लोगों की जांच की गई.

11 साधु पाए गए संक्रमित
राज्य में पिछले एक सप्ताह के दौरान स्वामीनारायण संप्रदाय के 11 साधु कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी. स्वामीनारायण संप्रदाय का मंदिर गुजरात के मणिनगर इलाके में है. संक्रमित पाए गए सभी साधु मणिनगर पंथ के हैं.
अहमदाबाद नगर निगम के उप स्वास्थ्य अधिकारी डॉ तेजस शाह ने बताया कि संक्रमित पाए गए पांच साधु अहमदाबाद में मणिनगर मंदिर के परिसर में रह रहे थे. उन्होंने बताया कि छह अन्य साधुओं में से पांच अहमदाबाद के न्यू रानिप इलाके में और एक बावला गांव में रह रहा था. डॉ शाह ने बताया कि संक्रमित पाए गए सभी 11 साधुओं का फिलहाल अलग अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है.



ये भी पढ़ें-कोविड-19 के हल्के लक्षण वाले मरीजों को घर पर ही पृथक रखा जाए: विशेषज्ञ

एक हफ्ते पहले हुई थी मामलों की जानकारी
मणिनगर मंदिर के स्वामी भगवतप्रियदास ने बताया कि करीब एक सप्ताह पहले कोरोना वायरस के मामलों का पता चलने के बाद मंदिर परिसर को संक्रमणमुक्त किया गया था. उन्होंने बताया ‘‘श्रद्धालुओं के लिए मंदिर पहले से ही बंद है. ऐहतियात के तौर पर हमने ज्यादातर साधुओं को कड़ी या वीरमगांव जैसे शहरों में भेज दिया है. मंदिर परिसर में फिलहाल केवल नौ साधु रह रहे हैं.’’

वहीं गुजरात सरकार ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी एक निर्देश के मद्देनजर राज्य संचालित विश्वविद्यालयों में विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित कराने संबंधी अपने फैसले को कुछ ही घंटों के भीतर बुधवार को वापस ले लिया. मंत्रालय ने राज्यों को सभी परीक्षाओं को स्थगित करने के निर्देश दिये है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज