खुशखबरी! केंद्र और रेलवे में जल्द आने वाली हैं 7.6 लाख वैकेंसी

रेलवे और केंद्र की नौकरियों में खाली इन 9.6 लाख से ज्यादा पदों पर जल्दी ही भर्तियां शुरू की जा सकती हैं.

News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 10:59 PM IST
खुशखबरी! केंद्र और रेलवे में जल्द आने वाली हैं 7.6 लाख वैकेंसी
यह जानकारी कांग्रेस सांसद दीपक बैज और बीजेपी सांसद दर्शना जरदोश के सवाल के जवाब में लोकसभा में दी गई.
News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 10:59 PM IST
केंद्र के सरकारी विभाग में लगभग सात लाख पद खाली हैं. इन सात लाख पदों में अकेले 2.6 लाख पद रेलवे में खाली हैं. यह जानकारी श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने बुधवार को लोकसभा में जानकारी दी. गंगवार के अनुसार यह आंकड़े मार्च 2018 तक के ही हैं. मार्च 2019 में खत्म हुए वित्तीय वर्ष में खाली पड़े पदों का आंकड़ा संसद में नहीं दिया गया. इसके लिए किसी कारण की जानकारी भी नहीं दी गई.

गंगवार ने यह जानकारी कांग्रेस सांसद दीपक बैज और बीजेपी सांसद दर्शना जरदोश के सवाल के जवाब में दी. गंगवार ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि खाली पद भरे जाएं. साल 2019-20 में इन रिक्त पदों पर भर्तियां की जाएंगी.

बैज और जरदोश, खाली विभागीय पदों की संख्या उन्हें भरने के लिए उठाए गए कदम पर जवाब चाहते थे. इसके जवाब में गंगवार ने कहा कि खाली पदों को भरना एक निरंतर प्रक्रिया है. उन्होंने कहा कि यह तय करना राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों का काम है कि उनके अधिकार क्षेत्र में आने वाली रिक्तियां भरी जाएं. हालांकि सरकार जल्द से जल्द इन्हें भरने के लिए प्रतिबद्ध है.

लोकसभा चुनाव से पहले दिया गया आंकड़ा नहीं था सही

बुधवार को ही गंगवार ने राज्यसभा में बुधवार को कहा कि आईएलओ की रिपोर्ट के अनुसार भारत में बेरोजगारी की दर 3.5 प्रतिशत है जबकि चीन में यह दर 4.7 प्रतिशत और पूरे एशिया महाद्वीप में 4.2 प्रतिशत है.

यह भी पढ़ें:  RRB NTPC Admit Card: ये हैं पासिंग मार्क्स, सेलेक्शन प्रोसेस

संतोष गंगवार ने लोकसभा में कहा कि बेरोजगारी को लेकर लोकसभा चुनावों से पहले दिया गया आंकड़ा सही नहीं था. उन्होंने कहा कि ILO रिपोर्ट में भारत को दुनिया में सबसे कम बेरोजगारी दर वाला देश बताया गया है. भारत की स्थिति दूसरे देशों से बेहतर है, लेकिन हम इससे संतुष्ट नहीं हैं. गंगवार ने कहा कि देश में नौकरियों की कमी नहीं है, लेकिन लोग स्थाई और सरकारी नौकरी चाहते हैं.
Loading...

असंगठित सेक्टर में घटती नौकरियों के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमारे पास असंगठित क्षेत्र में इस तरह की कमी के बारे में कोई जानकारी नहीं है. संतोष गंगवार के मुताबिक रोजगार पैदा करने के लिए सरकार बहुत सक्रिय है. उन्होंने कहा कि संगठित क्षेत्र में हर साल 1 करोड़ रोजगार पैदा हुए हैं.

हर साल खाली हो रहे हैं 10-12 फीसदी पद

उनसे यह सवाल भी पूछा गया कि सरकारी नौकरियों की कुछ श्रेणी के लिए इंटरव्यू प्रक्रिया खत्म करने का फायदा क्या वाकई बेरोजगारों को मिल रहा है. इसके जवाब में मंत्री ने कहा कि ‘D’ कैटिगरी के पदों के लिए इंटरव्यू की प्रक्रिया खत्म की गई है और इसका फायदा हो रहा है.

करीब 10-12 फीसदी पद हर साल खाली हो रहे हैं और उन्हें भरने की प्रक्रिया जारी है. उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया में जॉब ऑफर करने में 1 साल लगता है. गंगवार ने आगे बताया कि पिछले 5 सालों में UPSC और SSE के तहत 2,45,470 सरकारी नौकरियां निकाली गईं. इसके अलावा, सरकार पदों को भरने के लिए एजेंसियां भी नियुक्त कर रही है. हमारा प्रयास रहता है कि हम समय-समय पपर नियुक्तियों के बारे में जानकारी देते रहें.

यह भी पढ़ें:  Jobs Alert: रेलवे ने 2150 पदों पर निकली भर्ती, पढ़ें ड‍िटेल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 10:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...