• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Sero Survey: यूपी के 71% लोगों में पाई गई एंटीबॉडी, वैक्सीन लेने वालों के लिए खतरा हुआ कम

Sero Survey: यूपी के 71% लोगों में पाई गई एंटीबॉडी, वैक्सीन लेने वालों के लिए खतरा हुआ कम

ग्यारह राज्यों में किये गये सर्वे में दो-तिहाई आबादी में कोरोना वायरस एंटीबॉडी पाये गए  (सांकेतिक तस्वीर)

ग्यारह राज्यों में किये गये सर्वे में दो-तिहाई आबादी में कोरोना वायरस एंटीबॉडी पाये गए (सांकेतिक तस्वीर)

Sero Survey: भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) द्वारा 14 जून से छह जुलाई के बीच किए गए एक सीरो सर्वे के निष्कर्षों के अनुसार, 11 राज्यों में किये गये सर्वेक्षण में कम से कम दो-तिहाई आबादी में कोरोना वायरस एंटीबॉडी विकसित पाई गई.

  • Share this:

    नई दिल्ली. देश में तीसरी लहर (3rd Covid Wave) को लेकर चिंता के बीच उत्तर प्रदेश की करीब 71 फीसदी आबादी में कोविड-19 एंटीबॉडी पाई गई. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के अनुसार, उन लोगों में कोरोनावायरस के खिलाफ एंटीबॉडी पाई गई जिन्होंने कोविड -19 वैक्सीन की दोनों खुराक ली है. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन लोगों को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है, उनमें एंटीबॉडी की मात्रा कम पाई गई. जून के अंतिम 10 दिनों और जुलाई के पहले सप्ताह में किए गए सीरो सर्वे में  देश भर में छह साल से अधिक उम्र के बच्चों सहित लगभग 29,000 लोगों को शामिल किया गया. 21 राज्यों के 70 जिलों को कवर करने वाले सर्वेक्षण से पता चला है कि 67.6 प्रतिशत नमूनों में कोरोनावायरस के खिलाफ एंटीबॉडी थे. यह देश का चौथा सीरो सर्वे किया गया है.

    रिपोर्ट के अनुसार, केरल सबसे कम कोरोनावायरस के संपर्क में था क्योंकि यहां जुलाई की शुरुआत तक केवल 45 % आबादी के संक्रमित होने का अनुमान है, जबकि असम 50 %और महाराष्ट्र 58 % था. ज्यादा जोखिम वाले राज्यों में मध्य प्रदेश 79 %, राजस्थान 76.2 % और बिहार 75.9 % है. उत्तर प्रदेश में 70,000 लोग सीरो सर्वे का हिस्सा थे. राज्य में इस साल अप्रैल और मई में राज्य में बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए थे.70,000 में से 62,000 से अधिक लोगों में ज्यादा एंटीबॉडी पाई गई. पिछले साल सितंबर में राज्य 11 जिलों में सीरो सर्वे किया गया था. इसमें 22 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी पाया गया था.

    सरकार ने राज्यों से ICMR के परामर्श से राज्य-विशिष्ट सीरो सर्वे करने को कहा
    उधर केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह दी है कि वे ICMR के परामर्श से सीरो सर्वेक्षण करें ताकि स्थानीय स्तर पर सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को तैयार करने में आवश्यक ‘सीरोप्रीवैलेंस’ पर जिला-स्तरीय आंकड़ा तैयार किया जा सके. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण द्वारा सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के अतिरिक्त मुख्य सचिवों / प्रधान सचिवों / सचिवों (स्वास्थ्य) को लिखे गए एक पत्र में यह कहा गया है.

    ICMR द्वारा किए गए राष्ट्रीय सीरोप्रीवैलेंस सर्वेक्षण के चौथे दौर के निष्कर्षों का उल्लेख करते हुए, मंत्रालय ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को ICMR के परामर्श से अपने-अपने क्षेत्रों में सीरोप्रीवैलेंस अध्ययन करने की सलाह दी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज