कोरोना वायरस से मरने वालों में 60 साल से ऊपर के 75% मरीज, 83% को पहले से गंभीर बीमारी

कोरोना वायरस से मरने वालों में 60 साल से ऊपर के 75% मरीज, 83% को पहले से गंभीर बीमारी
कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख 65 हजार के पार चला गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मृतकों में 60 साल से अधिक उम्र के 75.3% मरीज हैं, जिनमें से 83% मरीजों को मधुमेह, उच्च रक्तचाप और हृदय संबंधी कई गंभीर बीमारी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 8:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर बढ़ता ही जा रहा है. देश में अब तक 16 हजार से कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं, जबकि 488 लोगों की मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के आंकड़ों के मुताबिक​ देश में मिले कोरोना संक्रमित मरीजों में से 3.3% मरीजों की मौत इस संक्रमित बीमारी की वजह से हुई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मृतकों में 60 साल से अधिक उम्र के 75.3% मरीज हैं, जिनमें से 83% मरीजों को मधुमेह, उच्च रक्तचाप और हृदय संबंधी कई गंभीर बीमारी थी. बताया जाता है देश में अभी तक कोरोना से जितनी भी मौते हुई हैं में 75 साल के अधिक आयु के 42.2% मरीज, 60 से 75 साल के 33.1% मरीज, 45-60 साल के 10.3% मरीज जब​कि 45 साल से कम के 14.4% शामिल हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटों में देश में 957 नए मामले दर्ज किए गए, जबकि 36 लोगों की मौत हो गई. देश में इस समय 14,792 मामले दर्ज किए गए है जबकि 488 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद/आईसीएमआर (ICMR) के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 2015 मामले दर्ज किए गए हैं. आंकड़ों पर गौर करें तो शुक्रवार को 1,076, गुरुवार को 826 और बुधवार को 1,118 नए कोरोना मरीज मिले थे.



इसे भी पढ़ें :- क्वारंटाइन में रखे गए लोगों पर मोबाइल से रखी जाए नज़र, केंद्र ने दिया राज्यों को निर्देश
देश में 29.8% मामले तबलीगी जमात से जुड़े हैं
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया है कि कोविड-19 के कुल 14,378 मामलों में से 4291 मामले या 29.8 फीसदी तबलीगी जमात के कार्यक्रम से जुड़े हुए हैं. उन्होंने बताया कि तमिलनाडु में 84% , तेलंगाना में 79%, दिल्ली में 63% , उत्तर प्रदेश 59%, आंध्र प्रदेश में 61%, असम में 91% और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 83% मामले तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं.

इन जिलों में मिले कोरोना के नए केस 
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश के तीन जिले पटना (बिहार), नादिया (पश्चिम बंगाल) और पानीपत (हरियाणा) में पिछले 14 दिनों से अधिक समय से कोई भी नया केस देखने को नहीं मिला था लेकिन पिछले 24 घंटों में यहां पर नए मामले देखने को मिल रहे जो एक चिंता का विषय हैं.

इसे भी पढ़ें :- देश में एक दिन में रिकॉर्ड 2000 से ज्यादा नए केस, जानें क्या है आपके राज्य का हाल

इन 12 राज्‍यों के 22 जिलों से नहीं आए नये केस
- बिहार के लखीसराय, गोपालगंज और भागलपुर से पिछले 14 दिन से कोई नया केस सामने नहीं आया है.
- राजस्‍थान के धौलपुर और उदयपुर से कोई नया केस सामने नहीं आया है.
- जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा से नया केस नहीं आया.
- मणिपुर के तोबल से कोई नया केस नहीं आया.
- कर्नाटक के चित्रदुर्गा से कोई नया मामला सामने नहीं आया.
- पंजाब के होशियारपुर से कोई नया केस सामने नहीं आया.
- हरियाणा के रोहतक और चरखी दादरी से कोई नया केस नहीं आया.
- अरुणाचल प्रदेश के लोहित से कोई केस नहीं.
- ओडिशा के पुरी और भदरक से कोरोना वायरस का 14 दिनों में कोई नया केस नहीं आया.
- असम के करीमगंज, गोलाघट, कामरूप रूरल, नलबारी और साउथ सलमारा से कोई केस नहीं
- पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी और कलिमपोंग से कोई केस नहीं.
- आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से कोई नया केस नहीं.

इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज