Home /News /nation /

महाराष्ट्र के 80 प्रतिशत कोरोना वायरस मामलों में नहीं दिख रहे लक्षण: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र के 80 प्रतिशत कोरोना वायरस मामलों में नहीं दिख रहे लक्षण: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

ठाकरे ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन की मदद से वायरस के फैलने की गति धीमी हुई है और इसमें ढील देने से पहले वह स्थिति की समीक्षा करेंगे.

ठाकरे ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन की मदद से वायरस के फैलने की गति धीमी हुई है और इसमें ढील देने से पहले वह स्थिति की समीक्षा करेंगे.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra's CM Uddhav Thackeray) ने लोगों से कहा कि फिलहाल कोई दूसरा विकल्प नहीं है इसलिए वह धैर्य रखें. ठाकरे ने कहा ऐसा नहीं है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) अचानक से चला जाएगा. हर्ड इम्यूनिटी का कोई सबूत नहीं मिला है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra's CM Uddhav Thackeray) ने रविवार को कहा कि राज्य में 80 प्रतिशत मामलों में कोई भी लक्षण नहीं है. महाराष्ट्र (Maharashtra) में करीब 7600 लोग संक्रमित पाए गए हैं जो कि पूरे देश में सबसे अधिक हैं.

    राज्य में अधिक मामले होने के पीछे ये भी कारण हो सकता है कि वायरस बिना किसी लक्षण के फैल रहा हो. ऐसे में ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग के जरिए ही नए मामलों की जानकारी मिल सकती है. अधिकारियों के मुताबिक राजस्थान में करीब 2100 मामले हैं और वहां भी करीब 80 प्रतिशत मरीजों में लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं.

    मुंबई और पुणे से आ रहे ज्यादा केस
    ठाकरे ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन की मदद से वायरस के फैलने की गति धीमी हुई है और इसमें ढील देने से पहले वह स्थिति की समीक्षा करेंगे. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राज्य में सबसे अधिक मामले मुंबई और पुणे से सामने आ रहे हैं. अधिकारियों ने न्यूज़18 को बताया कि ऐसा भी हो सकता है कि लॉकडाउन को शहरी क्षेत्रों तक सीमित कर दिया जाए.



    ठाकरे ने कहा कि 30 तारीख के बाद क्या करना है इस बारे में हम जल्द फैसला करेंगे. फिलहाल के लिए हम कुछ चीजें दोबारा शुरू कर रहे हैं. मैं शाम को इस योजना को पढ़ने वाला हूं. हमें देखना होगा कि हम कैसे हालातों को सामान्य कर सकते हैं.

    धैर्य के अलावा कोई और विकल्प नहींं
    उन्होंने लोगों से कहा कि फिलहाल कोई दूसरा विकल्प नहीं है इसलिए वह धैर्य रखें. ठाकरे ने कहा ऐसा नहीं है कि कोरोना वायरस अचानक से चला जाएगा. हर्ड इम्यूनिटी का कोई सबूत नहीं मिला है. हमें हाई रिस्क ग्रुप को सेफ रखना होगा.

    ठाकरे ने कहा कि आपको मास्क पहनना जरूरी है. हम भीड़ इकट्ठा नहीं कर सकते. आपको घर पर ही एक्सरसाइज करना चाहिए. अगर आपको लक्षण दिखते हैं तो आपको फीवर क्लिनिक जाना चाहिए. लक्षणों को नजरअंदाज मत करिए और न ही खुद दवा लीजिए.

    शहरी इलाकों में रहेंगी पाबंदियां
    राज्य के अधिकारियों का कहना है कि अगर राज्य लॉकडाउन के सख्त नियम हटाता भी है तो ऐसा सिर्फ ग्रामीण और कम प्रभावित इलाकों में ही होगा. जो भी हो हम दोनों ही इलाकों पर नजर रखे हुए हैं.

    महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने शनिवार को कहा था कि राज्य में मामले कम नहीं हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि राज्य को अभी उस स्तर पर पहुंचना होगा जहां नए मामलों की संख्या में गिरावट आए. तब तक हम लोगों को बड़ी संख्या में बाहर निकलने की अनुमति देकर कोई रिस्क नहीं उठा सकते.

    ये भी पढ़ें-
    घने बसे गरीब दक्षिण एशिया में कोविड 19 से क्यों सबसे कम हैं मौतें?

    COVID-19 से लड़ाई के लिए राहुल ने सरकार को दी सलाह, PM मोदी से की ये अपील

    Tags: CM Uddhav Thackeray, Coronavirus, COVID-19 pandemic, Maharashtra

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर