कोरोनाः दुनिया को 8 करोड़ टीके देगा अमेरिका, भारत को कितना मिलेगा अभी तय नहीं

भारत के लिए अमेरिकी योजना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम ये खुलासा नहीं कर सकते कि किस देश को वैक्सीन की कितनी खुराक दी जाएगी. फाइल फोटो

भारत के लिए अमेरिकी योजना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम ये खुलासा नहीं कर सकते कि किस देश को वैक्सीन की कितनी खुराक दी जाएगी. फाइल फोटो

No decision on allocations of US Vaccine: प्रख्यात अमेरिकी नागरिक अधिकार नेता जेसी एल जैक्सन ने कहा था कि वे राष्ट्रपति जो बाइडन से भारत को कोविड-19 टीकों की छह करोड़ खुराक जारी करने का आग्रह करेंगे.

  • Share this:

नई दिल्ली. राष्ट्रपति जो बाइडन के नेतृत्व वाले अमेरिकी प्रशासन ने दुनिया के अन्य देशों को कोरोना वैक्सीन की 8 करोड़ खुराक देने का वादा किया है, लेकिन वैक्सीन के अमेरिकी भंडार में से किस देश को वैक्सीन की कितनी खुराक मिलेगी, अभी ये तय नहीं है. वैश्विक स्तर पर महामारी से लड़ाई में अमेरिकी प्रयासों की अगुवाई कर रही गेल स्मिथ ने कहा कि अभी इस बारे में कोई फैसला नहीं हुआ है कि 8 करोड़ वैक्सीन की खुराक में से किसे कितना मिलेगा.

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट की को-ऑर्डिनेटर गेल स्मिथ ने कहा कि इस सप्ताह राष्ट्रपति बाइडेन की घोषणा के बाद वैश्विक स्तर सहयोग के लिए प्रयास शुरू हुए हैं. अमेरिका अपने वैक्सीन स्टॉक से 2 करोड़ वैक्सीन की खुराक अन्य देशों को देगा, जबकि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की 6 करोड़ खुराक को मिलाकर कुल 8 करोड़ वैक्सीन की डोज दुनिया के अन्य देशों को दी जाएंगी. उन्होंने कहा कि 8 करोड़ टीके की खुराक शेयर करने के बाद अमेरिकी विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्यातक बन जाएगा.

अमेरिका का खुलासे से इनकार

भारत के लिए अमेरिकी योजना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम ये खुलासा नहीं कर सकते कि किस देश को वैक्सीन की कितनी खुराक दी जाएगी. हालांकि कोरोना के प्रकोप को देखें तो भारत हमारी प्राथमिकता में शामिल है. उन्होंने कहा कि हम 100 मिलियन डॉलर के सहयोग के साथ प्राइवेट सेक्टर से सहयोग ले रहे हैं, लेकिन अभी आवंटन पर कोई फैसला नहीं हुआ है."

Youtube Video

बता दें कि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को घोषणा की थी कि अगले छह सप्ताह में अमेरिका दुनिया के साथ कोविड-19 टीके की और दो करोड़ खुराक साझा करेगा. इससे पहले बाइडन प्रशासन ने जून के आखिर तक एस्ट्रेजेनेका टीके की छह करोड़ खुराक साझा करने का वादा किया था. वैसे अबतक बाइडन प्रशासन ने यह नहीं बताया कि वह इन खुराकों को कैसे साझा करेगा या फिर किन देशों को ये खुराक मिलेंगी.

भारत को छह करोड़ टीके देने का आग्रह



इससे पहले प्रख्यात अमेरिकी नागरिक अधिकार नेता जेसी एल जैक्सन ने कहा था कि वे राष्ट्रपति जो बाइडन से महामारी के सबसे बुरे प्रकोप से प्रभावित भारत को कोविड-19 टीकों की छह करोड़ खुराक जारी करने का आग्रह करेंगे. एक बयान के अनुसार, जैक्सन बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में कई प्रमुख भारतीय नेताओं के साथ बाइडन से अधिक मानवीय सहायता के लिए सार्वजनिक अपील करेंगे.

जैक्सन ने एक बयान में कहा, 'महामारी किसी एक देश के लिए नहीं, बल्कि समूची मानवता के लिए खतरा है. खतरे का सामना करने के लिए हमारी प्रतिक्रिया व्यापक होनी चाहिए.' उन्होंने कहा कि वह बाइडन से भारत को एस्ट्राजेनेका टीके की छह करोड़ खुराक देने का आग्रह करेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज