Home /News /nation /

81वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन कल से, ओम बिरला करेंगे अध्क्षयता

81वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन कल से, ओम बिरला करेंगे अध्क्षयता

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पीठासीन अधिकारी सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे. (File Photo)

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पीठासीन अधिकारी सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे. (File Photo)

All India Presiding Officers Conference: पिछले साल 80वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन गुजरात के केवड़िया में आयोजित किया गया था. उस सम्मेलन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिरकत की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली. 81वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन बुधवार को आयोजित किया जा रहा है. इस सम्मेलन में देश भर के विधानसभा के अध्यक्ष सम्मलित होंगे. कोरोना को देखते हुए पीठासीन अधिकारी सम्मेलन वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया गया है. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पीठासीन अधिकारी सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे. पीठासीन अधिकारी सम्मेलन बुधवार 15 सितंबर सुबह 11 बजे से शुरू होगा. इस सम्मेलन में “प्रभावी और सार्थक लोकतंत्र को बढ़ावा देने में विधायिका‘‘ की भूमिका पर चर्चा होगी.

इस बार के सम्मेलन की थीम ‘विधायिका के कार्यों में आईटी के प्रयोग’ रखी गई है. इस सम्मेलन में विधायिका कार्यों में आईटी का ज्यादा से ज्यादा करके कार्यो को कैसे पैना और सटीक बनाया जा सकता है, इसपर विस्तार आए चर्चा की जाएगी. आमतौर पर लोकसभा अध्यक्ष के तरफ से हर साल इस तरह का सम्मेलन आयोजित किया जाता है.

सम्मेलन में इन मुद्दों पर होगी चर्चा
इस तरह के सम्मेलन में लोकतंत्र को मजबूत करने में लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा का रोल कितना सशक्त होना चाहिए और सभा के अधिकारियों की भूमिका कैसी होनी चाहिए, इस पर चर्चा होती है. विधानसभा अध्यक्ष के कंधे पर भी विधानसभा को संचालित करने की बड़ी भूमिका रहती है, ऐसे में इस तरह के सम्मेलन में इनको कैसे प्रभावी किया जा सकता है, इसपर चर्चा होती है.

पिछले साल 80वां अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन गुजरात के केवड़िया में आयोजित किया गया था. उस सम्मेलन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिरकत की थी. उस सम्मेलन में ही पीएम ने एक राष्ट्र एक चुनाव पर बल दिया था. अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन की शुरुआत वर्ष 1921 में की गई थी.

Tags: Lok sabha Speaker Om Birla, Loksabha, Narendra modi, Rajyasabha

अगली ख़बर