बड़ा खुलासा! पकड़े गए 83% आतंकवादी पहले कश्मीर में करते थे पत्थरबाजी

सेना की 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने एक प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 5:43 PM IST
बड़ा खुलासा! पकड़े गए 83% आतंकवादी पहले कश्मीर में करते थे पत्थरबाजी
PTI Photo by S Irfan
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 5:43 PM IST
कश्मीर घाटी के पत्थरबाजों और आतंकवाद का बड़ा कनेक्शन है. यह जानकारी भारतीय सेना ने शुक्रवार को एक प्रेस वार्ता में दी. सेना की 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि 83 प्रतिशत आतंकवादियों का इतिहास पत्थरबाज का रहा है.

इससे पहले उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास स्थिति नियंत्रण में है और काफी हद तक शांतिपूर्ण है. सेना ने कहा कि वह पाकिस्तान को कश्मीर में शांति भंग करने नहीं देगी.

ढिल्लों ने श्रीनगर में सुरक्षा बलों के एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि घाटी में आईईडी विस्फोटकों का खतरा ज्यादा है, लेकिन नियमित रूप से तलाशी अभियान चलाकर सुरक्षा बल इससे प्रभावी ढंग से निपट रहे है.

यह भी पढ़ें: अगर हटा आर्टिकल 35A तो जम्मू-कश्मीर में क्या बदल जाएगा?

शोपियां में चल रहा तलाशी अभियान
उन्होंने बताया कि शोपियां में तलाशी अभियान चल रहा है जहां गुरुवार की रात सुरक्षा बलों पर हमला करने का प्रयास किया गया था. उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान, पाकिस्तान आयुध फैक्ट्री में निर्मित एक बारूदी सुरंग को जब्त कर लिया गया. बारूदी सुरंग पर पाकिस्तानी आयुध फैक्ट्री का निशान बना हुआ है.

सेना के अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा मार्ग पर सेना को भारी मात्रा में हथियारों का जखीरा मिला है जिसमें अमेरिकी एम-24 स्नाइपर राइफल भी शामिल है. कश्मीर के आईजी एसपी पाणि ने कहा कि घाटी में ज्यादातर पुलवामा और शोपियां के इलाकों में आईईडी विस्फोट करने के 10 से अधिक गंभीर प्रयास किए गए थे.
Loading...

यह भी पढ़ें:  जवानों की तैनाती पर MHA ने कहा- सार्वजनिक चर्चा नहीं कर सकते
First published: August 2, 2019, 5:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...