COVID-19: रोज़ाना 75 लाख लोगों को लगे कोरोना वैक्सीन तो कितने दिनों में पूरी आबादी हो जाएगी कवर?

देश में वैक्सीनेशन का टूटा रिकॉर्ड (रॉयटर्स)

Vaccination In India: अगर एक दिन में 75 लाख खुराक का लक्ष्य निर्धारित किया जाता है, तो भारत 2011 की जनगणना के अनुमान के अनुसार अपनी पूरी वयस्क आबादी यानी 18 वर्ष से अधिक आयु के 94.02 करोड़ भारतीयों का टीकाकरण करने में कितना समय लगेगा?

  • Share this:
    संतोष चौबे


    नई दिल्ली. भारत ने 21 जून को एक दिन में 85 लाख से अधिक लोगों को कोविड रोधी टीके (Vaccination In India) लगाए. यह 5 अप्रैल को किए गए 43 लाख वैक्सीनेशन से दोगुना है. इस नए रिकॉर्ड के साथ भारत को उम्मीद है कि वह जल्द ही प्रतिदिन एक करोड़ टीकाकरण लक्ष्य के करीब पहुंच जाएगा. सरकार ने अगस्त तक प्रतिदिन 1 करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य रखा हुआ है. आइए जानते हैं कि अगर एक दिन में 75 लाख खुराक का लक्ष्य निर्धारित किया जाता है, तो भारत 2011 की जनगणना के अनुमान के अनुसार अपनी पूरी वयस्क आबादी यानी 18 वर्ष से अधिक आयु के 94.02 करोड़ भारतीयों का टीकाकरण करने में कितना समय लगेगा?

    भारत की एक बड़ी आबादी अभी भी टीके की पहुंच से दूर है. 20 जून के आंकड़ों के अनुसार, 22.87 करोड़ लोगों को आंशिक रूप (Partially Vaccinated) से टीका लगाया गया है और 5.12 करोड़ को दोनों खुराक (Fully Vaccinated) मिल गई है. इसका मतलब है कि भारत में 28 करोड़ लोगों को पूर्ण या आंशिक रूप से टीके की खुराक मिल गई है. यानी देश को करीब 66.02 करोड़ लोगों का टीकाकरण करना है. कम से कम 66.02 करोड़ लोगों का मतलब है कि 66.02 करोड़ वैक्सीन खुराक आंशिक और 132.04 करोड़ वैक्सीन खुराक पूरे टीकाकरण के लिए जरूरी है. अब अगर प्रति दिन 75 लाख लोगों को टीका लगाने का इंतजाम होता है तो पूरी वयस्क आबादी को आंशिक रूप से टीकाकरण करने में 88 दिन लगेंगे.



    22.87 करोड़ को पहली खुराक मिल गई
    पूरी वयस्क आबादी का टीकाकरण करने के लिए भारत को 88.89 करोड़ लोगों का टीकाकरण करना होगा. इसमें से 22.87 करोड़ को पहली खुराक मिल गई है और इन्हें पूरी तरह वैक्सीनेट करने के लिए 22.87 करोड़ खुराक की जरूरत है. यह 66.02 करोड़ आबादी के लिए आवश्यक 132.04 करोड़ वैक्सीन खुराक के अतिरिक्त होगा.

    अगर देश में प्रतिदिन 75 लाख खुराक दी जाए तो 66.02 करोड़ लोगों को टीके की दोनों खुराक पाने के लिए 176 दिनों की जरूरत है. इसमें टीके की दोनों खुराक के बीच का अंतर भी शामिल है और साथ ही 22.87 करोड़ लोगों के लिए 31 दिनों का अंतर भी शामिल है. ऐसे में भारत की आबादी को पूरी तरह से टीका लगाने के लिए 207 दिन चाहिए.

    भारत में फिलहाल तीन टीके लगाए जा रहे हैं इसमें कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पूतनिक वी शामिल हैं. तीनों वैक्सीन्स डबल डोज हैं जिनकी पहली और दूसरी खुराक के बीच अलग-अलग समयावधि है. कोविशील्ड के पहले और दूसरे डोज में 84 दिन, कोवैक्सिन दोनों डोज में 28 दिन और तीसरे टीके स्पूतनिक वी के दोनों खुराक में 21 दिन का अंतर है. भारत में कोविशील्ड मुख्यतः उपयोग किया जा रहा है. इसकी सप्लाई अभी लगभग 10 करोड़ है, लेकिन Covaxin भी जुलाई तक अपने उत्पादन को 10 से 12 करोड़ खुराक तक बढ़ाने जा रहा है. स्पूतनिक वी बड़े पैमाने पर रूस से आयात किया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.