लाइव टीवी

बैंक के बाद अब EPFO में फर्जीवाड़ा, कर्मचारी ने निकाल लिए 9 करोड़ रुपये

News18Hindi
Updated: April 2, 2018, 5:43 PM IST
बैंक के बाद अब EPFO में फर्जीवाड़ा, कर्मचारी ने निकाल लिए 9 करोड़ रुपये
इस समय ईपीएफओ सब्‍सक्राइबर्स को अपनी नौकरी छोड़ने के दो महीने बाद पीएफ सेविंग की पूरी रकम निकालने की अनुमति है. फैक्‍टरी बंद होने, शादी, बच्‍चों की पढ़ाई या मेडिकल खर्च के लिए भी सब्‍सक्राइबर्स को अपनी पीएफ सेविंग का एक हिस्‍सा निकालने की अनुमति है.

ये पैसे अलग-अलग बैंक अकाउंट खोलकर 20 अलग-अलग ईपीएफ खाते से ट्रांसफर किए गए. देश के कई और शहरों से भी इसी तरह रकम निकाले जाने की खबरें आई हैं. इस तरह से फर्जीवाड़े का आकंड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है.

  • Share this:
पंजाब नेशनल बैंक के फ्रॉड के बाद अब प्रॉविडेंट फंड में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. दिल्ली में फर्जी तरीके से ऑन लाइन क्लेम सेटलमेंट फॉर्म के जरिए निकाले गए कई करोड़ रुपयों को लेकर शिकायत दर्ज की गई है. साउथ दिल्ली के प्रॉविडेंट फंड ऑफिस को शुरुआती जांच में फर्जी तरीके से 9 करोड़ की रकम निकालने की जानकारी मिली है.

ये पैसे अलग-अलग बैंक अकाउंट खोलकर 20 अलग-अलग ईपीएफ खाते से ट्रांसफर किए गए. देश के कई और शहरों से भी इसी तरह रकम निकाले जाने की खबरें आई हैं. इस तरह से फर्जीवाड़े का आकंड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है.

सूत्रों के मुताबिक, ईपीएफओ को नेशनल डेटा सेंटर से ये जानकारी मिली है. दरअसल, ईपीएफओ जिस कंपनी को UAN डेटा मैनेजमेंट, केवाईसी मैनेजमेंट का नाम दिया था, उसी के एक कर्मचारी ने डाटा सॉफ्टवेयर अपडेशन के लिए मुहैया कराए गए पासवर्ड के जरिए ये रकम निकाल ली. ये पैसा देश के अलग-अलग सेक्टर्स में काम करने वाले कर्मचारियों के हैं.


सूत्रों ने बताया, आरोपी कर्मचारी ने पैसे निकालकर इससे जुड़ी सारी जानकारी डिलीट कर दी. फिलहाल उसके कनाडा भाग जाने की सूचना आ रही है.

आमतौर पर सॉफ्टवेयर अपडेटशन के लिए इंफोसिस, टाटा कंसल्टेंसी और विप्रो जैसी बड़ी कंपनियों को हायर किया जाता है. लेकिन, ईपीएफओ ने एक ऐसे ऑर्गनाइजेशन को कॉन्ट्रैक्ट दे दिया, जो डेली सैलरी पर कर्मचारी रखकर काम करवाती है. यहां सॉफ्टवेयर की सिक्योरिटी भी ऑडिट नहीं की जाती.

मामले में अब तक सीबीआई जांच का आदेश नहीं दिया गया है. सीवीसी के सर्कुलर के मुताबिक, 3 करोड़ से ऊपर के फ्रॉड में सीबीआई जांच होनी चाहिए. लेकिन, ईपीएफओ ने अब तक ये मामला सीबीआई को रेफर नहीं किया है. (नीतीश कुमार)

ये भी पढ़ें: VIDEO: ब्लड बैंक का कर्मचारी निकला कातिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2018, 3:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...