9 बजे 9 मिनट: कोरोना का अंधेरा मिटाने के लिए आज देशवासी जलाएंगे दीया, PM मोदी ने की अपील

9 बजे 9 मिनट: कोरोना का अंधेरा मिटाने के लिए आज देशवासी जलाएंगे दीया, PM मोदी ने की अपील
ये अपील करते हुए पीएम मोदी ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अपील पर एकजुटता का संदेश देने के लिए आज रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देशवासी अपने घर की लाइटें बंद रखेंगे. इस दौरान लोग दीया, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर कोरोना महामारी के खिलाफ एकजुटता का संदेश देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 5, 2020, 11:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत समेत दुनिया भर के देश इस समय कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी से लड़ रहे हैं. भारत में इस वायरस के संक्रमितों की संख्या 3000 पार कर गई है, जबकि अब तक 77 लोगों की जान भी जा चुकी है. कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है. आज इसका 11वां दिन है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अपील पर एकजुटता का संदेश देने के लिए आज रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देशवासी अपने घर की लाइटें बंद रखेंगे. इस दौरान लोग दीया, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर कोरोना महामारी के खिलाफ एकजुटता का संदेश देंगे.






पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक वीडियो मैसेज के जरिए देशवासियों को इसकी अपील की थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, '5 अप्रैल यानी इस रविवार को रात नौ बजे लोग अपने घरों से बाहर आएं. घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे पर खड़े होकर दीया जलाएं, मोमबत्ती जलाएं या फिर कुछ भी प्रकाश जलाएं. इस संदेश के जरिए पीएम ने देशवासियों के एकजुट होने की बात कही और कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है'.



सोशल डिस्टेंसिंग का रखें ध्यान
हालांकि, ये अपील करते हुए पीएम मोदी ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मेरी एक और प्रार्थना है, कि इस आयोजन के समय किसी को भी, कहीं पर भी इकट्ठा नहीं होना है. रास्तों में, गलियों या मोहल्लों में नहीं जाना है, अपने घर के दरवाज़े, बालकनी से ही इसे करना है.सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा को कभी भी लांघना नहीं है. सोशल डिस्टेंसिंग को किसी भी हालत में तोड़ना नहीं है. कोरोना की चेन तोड़ने का यही रामबाण इलाज है.

दरअसल, 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान शाम पांच ताली, थाली, घंटी आदि बजाकर कोरोनावीरों का धन्यवाद किए जाने की अपील पर कई लोग घरों से बाहर निकल गए थे. देश के कुछ इलाकों से ऐसी तस्वीरें आईं जिनमें लोगों को भीड़ जुटाकर जश्न मनाते देखा गया. पीएम ने इन तस्वीरों पर नाराजगी जाहिर की थी.

क्यों जलाना है दीया?
पीएम मोदी ने कहा कि ये लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने अपने घरों में जरूर हैं, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं है. 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है, हर व्यक्ति का संबल है. हमारे यहां माना जाता है कि जनता जनार्दन, ईश्वर का ही रूप होते हैं. इसलिए जब देश इतनी बड़ी लड़ाई लड़ रहा हो, तो ऐसी लड़ाई में बार-बार जनता रूपी महाशक्ति का साक्षात्कार करते रहना चाहिए.

क्या लाइटें बंद करने से हो जाएगा ब्लैकआउट?
प्रधानमंत्री की इस अपील के बाद ऐसी आशंका जताई जा रही थी कि एक ही साथ लाइटें बंद होने और 9 मिनट बाद फिर से चालू होने से बिजली ग्रिड क्रैश हो सकता है. हालांकि, केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय ने ऐसी आशंकाओं को खारिज किया है. मंत्रालय ने कहा कि ग्रिड के संतुलन के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं. मंत्रालय ने यह भी साफ किया कि रात 9 बजे स्ट्रीट लाइट से लेकर रेफ्रिजरेटर, पंखे जैसे घरेलू उपकरण नहीं बंद होंगे. वहीं, यूपी बिजली विभाग ने भी लोगों से सिर्फ लाइटें बंद करने को कहा हैं. आप बाकी उपकरण चालू रख सकते हैं.
देश में कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 3374 हुई
स्वास्थ्य व परिवार कल्याण के मुताबिक, देश में बीते 12 घंटे में कोरोना के 302 मामले मिले हैं. इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 3374 हो गई है. इसमें
3030 एक्टिव केस हैं. 267 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 77 लोगों की जान जा चुकी है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में जो हुआ वो हमने महाराष्ट्र नहीं होने दिया... जमात को लेकर उद्धव ठाकरे ने कही ये बात

वैज्ञानिकों ने जगाई उम्मीद! इस दवा से 48 घंटे में खत्म हुआ कोरोना वायरस, अब इंसानों पर होगी जांच
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading