लाइव टीवी

कमलेश तिवारी हत्याकांड : कोर्ट ने तीन आरोपियों को 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर भेजा

एएनआई
Updated: October 21, 2019, 5:36 AM IST
कमलेश तिवारी हत्याकांड : कोर्ट ने तीन आरोपियों को 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर भेजा
कमलेश तिवारी हत्याकांड के तीन आरोपियों को अहमदाबाद की कोर्ट ने ट्रांजिट रिमांड पर भेजा है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड में गुजरात (Gujarat) के सूरत (Surat) से पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया था. हिरासत में लिए गए एक आरोपी की भूमिका मर्डर में संदिग्ध बताई जा रही थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या (Kamlesh Tiwari Murder) के मामले में अहमदाबाद की कोर्ट ने तीन आरोपियों को 72 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर भेजा है.

बता दें कि गुजरात (Gujarat) के सूरत (Surat) से पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया था. हिरासत में लिए गए छह में से एक की भूमिका मर्डर में संदिग्ध बताई जा रही थी. इन सभी को गुजरात एटीएस ने हिरासत में लिया है और यह टीम यूपी पुलिस और एसआईटी से लगातार संपर्क में है. बता दें कि शुक्रवार को लखनऊ में कमलेश तिवारी की उनके ही घर में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी.

हत्या के बाद रूम से मिला था सूरत का डब्बा
कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उनके कमरे से सूरत घारी मिठाई का डब्बा मिला था. घारी सूरत की मशहूर मिठाई है. इस डब्बे में आरोपी हथियार लाए थे. बताया जा रहा है कि सूरत की धरती फूड एंड स्वीट दुकान से यह घारी मिठाई खरीदी गई थी. यह जानकारी सामने आने के बाद सूरत पुलिस की टीम ने दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक किया था. इसके बाद पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया था.

कमलेश तिवारी को चुकी है जेल
बता दें हिंदू महासभा के अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी को पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने हिंदू समाज पार्टी का गठन किया था.

ये भी पढ़ें- कमलेश तिवारी की हत्या के बाद हंगामा: सड़कों पर उतरे समर्थक, बंद कराई दुकानें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 11:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...