• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोरोना वायरस : भारत में महज 8 लोगों ने किया 1917 को संक्रमित, विदेश से आने की बात छुपाई

कोरोना वायरस : भारत में महज 8 लोगों ने किया 1917 को संक्रमित, विदेश से आने की बात छुपाई

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की रफ्तार लगातार बढ़ रही है

ब्रिटेन में कोरोना वायरस से संक्रमित होने की रफ्तार लगातार बढ़ रही है

14 मार्च यानी कल लॉकडाउन को 21 दिन पूरे हो जाएंगे. ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि क्या सरकार लॉकडाउन को आगे भी बढ़ाएगी या फिर कुछ छूट के साथ इसे खोल दिया जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) से मुकाबला करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) इतनी क्यों जरूरी है इसका सीधा उदाहरण कोरोना मरीजों के आंकड़ों को देखने के बाद पता चलता है. लॉकडाउन (Lockdown) का पालन न करने के कारण पांच राज्यों के महज आठ लोगों ने 1917 लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमि​त कर दिया. हालात ये हो चुके हैं कि अब भारत के ज्यादातर राज्य कोरोना से संक्रमित हैं. कई राज्य तो ऐसे हैं जहां पर कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या एक हजार के आंकड़े को भी पार कर गई है.

    सरकार ने 24 मार्च को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी. 14 मार्च यानी कल लॉकडाउन को 21 दिन पूरे हो जाएंगे. ऐसे में अब सवाल उठ रहा है कि क्या सरकार लॉकडाउन को आगे भी बढ़ाएगी या फिर कुछ छूट के साथ लॉकडाउन को खोल दिया जाएगा. सरकार की पूरी कोशिश है कि देश के नागरिकों को कोरोना के संक्रमण से किसी भी तरह बचाया जाए लेकिन कुछ लोगों की लापरवाही का ही नतीजा है कि देश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है.

    उत्तर प्रदेश

    नोएडा: सीजफायर कंपनी में कोरोना का पहला मरीज सामने आने के बाद भी लापरवाही बरती गयी और कंपनी को बंद नहीं किया. नतीजा ये हुआ कि नोएडा में संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ और बाद में कंपनी के 13 अन्य कर्मचारियों और उनके 11 परिवार के सदस्यों में कोरोना पॉजिटिव मिला. 24 कोरोना के मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन ने कंपनी को सील कर दिया.

    मेरठ: महाराष्ट्र के अमरावती से मेरठ में शादी में शामिल होने पहुंचे एक शख्स ने 16 लोगों को संक्रमित कर दिया. शादी के दौरान यह शख्स जितने भी लोगों से मिला उनमें से ज्यादातर लोग संक्रमित हो गए. बताया जाता है कि यह शख्स बुलंदशहर का रहने वाला था लेकिन वह अपने घर नहीं गया, जिसके कारण और ज्यादा लोग संक्रमित नहीं हुए.

    राजस्थान : राजस्थान के जयपुर के रामगंज में एक व्यक्ति ओमान से लौटा था. ओमान से लौटने के बाद वह सभी लोगों से मिलता-जुलता रहा. बाद में जब उस व्य​क्ति की हालत बिगड़ी तो उसमें कोरोना पॉजिटिव पाया गया. बताया जाता है उस व्यक्ति ने 126 अन्य लोगों को भी कोरोना संक्रमित कर दिया. इसी तरह राजस्थान के भीलवाड़ा में एक डॉक्टर से 16 लोग संक्रमित हो गए.

    बिहार: मस्कट से लौटा एक शख्स लोगों से मिलता रहा. बाद में जब वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो पता चला कि उसने 23 अन्य लोगों को भी संक्रमित कर दिया है. इसी तरह कतर से लौटे एक ट्रक ड्राइवर ने मुंगेर में 13 लोगों को संक्रमित कर दिया.

    मध्य प्रदेश: मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव खुद कोरोना पॉजिटिव थीं, जिसकी पुष्टि जब तक हुई तब तक उनके संपर्क में आने वाले 32 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके थे. बताया जाता है कि अमेरिका में कोरोना फैलने के बाद प्रमुख सचिव का बेटा वापस भारत आ गया था, जिससे वो भी संक्रमित हो गईं. बताया जाता है कि उन्होंने बेटे को वापस बुलाने की बात छुपाई और लगातार बैठकों में हिस्सा लेती रहीं.

    पंजाब: जर्मनी से इटली होते हुए पंजाब लौटे 70 साल के एक संत ने राज्य के 40 हजार लोगों को मुश्किल ​में डाल दिया. पंजाब लौटने के बाद यह शख्स अलग-अलग धार्मिक सम्मेलनों में भाग लेता रहा, जिसके कारण उसके संपर्क में काफी संख्या में लोग आ गए. बताया जाता है कि 18 मार्च को कोरोना से संक्रमित होने के कारण उनकी मौत हो गई. आनन-फानन में प्रशासन ने उनके संपर्क में रहने वाले 40 हजार लोगों को क्वारेंटीन किया और उनकी निगरानी शुरू की.

    मुंबई: मुंबई में 65 साल की एक महिला कॉरपोरेट कार्यालय में टिफिन की सप्लाई करने के लिए आई थी. कुछ दिन बाद उनकी हालत बिगड़ी तो अस्पताल में भर्ती कराया गया. बाद में वह कोरोना पॉजिटिव निकलीं. ये महिला जितने भी लोगों को टिफिन देती थीं उन सभी को क्वारेंटाइन में भेज दिया गया है.

    दिल्ली: निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात से जुड़े हजारों लोगों ने 13 से 15 मार्च के बीच एक कार्यक्रम किया, जिसमें काफी संख्या में विदेशी नागरिकों को बुलाया गया. कार्यक्रम खत्म होने के बाद ये लोग अलग-अलग राज्यों में चले गए. इनमें से काफी संख्या में जमाती कोरोना पॉजिटिव थे, जिनके कारण करीब 1650 लोग संक्रमित हो गए. अभी भी बहुत से जमाती सामने नहीं आए और कहीं पर छुपकर लोगों में कोरोना का संक्रमण फैला रहे हैं.

    इसे भी पढ़ें :-

    देश में कोरोना के मामले 9000 के पार, जानें क्या है आपके राज्य का हाल
    COVID-19 को मात देने वाला युवक पड़ोसियों के व्यवहार से परेशान, लिया यह फैसला

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज