अपना शहर चुनें

States

पंजाब: कर्ज में डूबे फाइनेंसर ने बच्ची और पत्नी को मारी गोली, फिर खुद भी कर लिया सुसाइड

लोगों ने बताया कि विक्रमजीत सिंह मान का काफी पैसा कोरोनाकाल के दौरान मार्केट में फंसा हुआ था. बताया जा रहा है कि उसे कई लोगों का लाखों रुपयों भी लौटाना था.
लोगों ने बताया कि विक्रमजीत सिंह मान का काफी पैसा कोरोनाकाल के दौरान मार्केट में फंसा हुआ था. बताया जा रहा है कि उसे कई लोगों का लाखों रुपयों भी लौटाना था.

Punjab News: गोलियों की आवाज सुनकर लोग उसके घर की ओर भागे. किसी तरह दरवाजा तोड़कर घर के अंदर घुसे लोगों ने देखा कि अंदर चारों तरफ खून बिखरा पड़ा था. सभी लोग तड़प रहे थे. पड़ोसियों ने घटना की सूचना पुलिस को दी़.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2021, 6:44 PM IST
  • Share this:
अमृतसर. शहर के गुरु तेग बहादुर नगर में सोमवार रात एक फाइनेंसर ने अपनी पत्नी और 4 वर्षीय की बच्ची को गोली मार दी. इस घटना को अंजाम देन के बाद उसने खुद को भी गोली मार कर सुसाइड (Suicide) कर लिया. मौके से पुलिस ने एक सुसाइड नोट (Suicide Note) भी बरामद किया है जिसके बारे में पुलिस ने अभी कोई खुलासा नहीं किया है.फिलहाल पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है.

पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक फाइनेंसर विक्रमजीत सिंह (Vikramjeet Singh) घर में जारी दिक्कतों के कारण परेशान रहता था. इसी के चलते सोमवार रात दस बजे पहले उसने अपनी पत्नी यादकिरणदीप कौर को गोली (Shot) मार दी. इसके बाद उसने अपनी चार साल की बच्ची वर्षिता को भी गोली से भून डाला. गोलियों की आवाज सुनकर लोग उसके घर की ओर भागे. किसी तरह दरवाजा तोड़कर घर के अंदर घुसे लोगों ने देखा कि अंदर चारों तरफ खून बिखरा पड़ा था. सभी लोग तड़प रहे थे. पड़ोसियों ने घटना की सूचना पुलिस को दी़.





यह भी पढ़ें: शादी के डेढ़ महीने बाद ही विवाहिता ने की आत्महत्या, मामा से फोन पर कहा था- मुझे मेरे ससुराल वाले मार डालेंगे
मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. मृतक ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसके बारे में पुलिस ने चुप्पी साध ली है. घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है. एडीसीपी हरपाल सिंह ने बताया कि तीनों शवों को कब्जे में ले लिया गया है. आज सुबह उनका पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. परिवार के संगे संबंधी और रिश्तेदार देर रात घटनास्थल पर पहुंच गए थे.

लोगों ने बताया कि विक्रमजीत सिंह मान का काफी पैसा कोरोनाकाल के दौरान मार्केट में फंसा हुआ था. बताया जा रहा है कि उसे कई लोगों का लाखों रुपयों भी लौटाना था. जिसके चलते लोग उससे पैसा वसूल करने के लिए रोजाना उसपर दबाव बना रहे थे. इस कारण वह बहुत परेशान रहने लगा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज