लाइव टीवी

Inside Story: एक अफवाह ने तीस हजारी कोर्ट में करा दिया इतना बड़ा तांडव, घंटों सुलगती रही दिल्ली

News18Hindi
Updated: November 3, 2019, 10:45 AM IST
Inside Story: एक अफवाह ने तीस हजारी कोर्ट में करा दिया इतना बड़ा तांडव, घंटों सुलगती रही दिल्ली
तीस हजारी कोर्ट में शनिवार दोपहर वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हो गई.

विवाद थमने के बाद दोनों पक्षों के बीच देर शाम तक बैठक का दौर जारी रहा. मामले की गंभीरता को दखते हुए जांच क्राइम ब्रांच की एसआईटी को सौंप दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 10:45 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) की तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में शनिवार दोपहर पुलिस (Police) और वकीलों (Lawyers) के बीच हुई झड़प (Scuffle) मात्र एक अफवाह से शुरू हुई. देखते ही देखते हंगामा इतना बढ़ गया कि 28 पुलिसकर्मी और वकील गंभीर रूप से घायल हो गए. बताया जाता है कि अफवाह थी कि पुलिसवालों की गोली से एक वकील की मौत हो गई है. इस अफवाह के बाद वकील बेकाबू हो गए और पुलिसकर्मियों के साथ उनकी तीखी नोंकझोक हो गई. इस हंगामें में 17 वाहन क्षतिग्रस्त हो गए.

विवाद थमने के बाद दोनों पक्षों के बीच देर शाम तक बैठक का दौर जारी रहा. मामले की गंभीरता को दखते हुए जांच क्राइम ब्रांच की एसआईटी को सौंप दी गई है. बताया जाता है कि कोर्ट परिसर में किसी ने अफवाह फैला दी कि पुलिस की गोली से एक वकील की मौत हो गई है. इस बात से नाराज गुस्साए वकीलों ने हंगामा शुरू कर दिया. आरोप है कि वकीलों ने हंगामे के दौरान कई गाड़ियों में आग लगा दी साथ ही पुलिस अधिकारियों के साथ मारपीट भी की.

Delhi, Tis Hazari Court, Police, Court, Arson, Skirmish,
तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिसकर्मियों के बीच हुई झड़प में 17 वाहन क्षतिग्रस्त हो गए.


बताया जाता है कि हंगामे के बीच वकीलों ने एक पुलिस अधिकारी को बंधक बना लिया. हंगामे के दौरान कोर्ट में कई मामलों की सुनवाई चल रही थी. हंगामा बढ़ने के दौरान कोर्ट परिसर में बाहर के भी कई पुलिसकर्मी आ गए. बताया जाता है कि कोर्ट परिसर में जो भी पुलिसवाला दिखाई दे रहा था उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया. देर शाम तक गुस्साए वकीलों को शांत कराने की कोशिशें चलती रहीं. देर शाम तक पुलिस कमिश्नर को बुलाने की जिद पर अड़े रहे. वकील आरोपी पुलिसकर्मियों की तत्काल गिरफ्तारी और बर्खास्तगी की मांग पर अड़े हुए थे. मामले की गंभीरता को देखते हुए कोर्ट परिसर के सभी गेट बंद कर दिए गए और देर शाम तक मामले को शांत करने के लिए वकीलों और पुलिस अधिकारियों के बीच बातचीत जारी रही.


Loading...



दोनों पक्षों की ओर से कराई गई FIR
तीस हजारी कोर्ट में शनिवार को हुए हंगामें के बाद दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर दर्ज करा दी गई है. पुलिस और वकीलों की तरफ से 186, 353, 427, 307 के तहत क्रॉस एफआईआर दर्ज कराई गई है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक दोनों पक्षों (पुलिस और वकीलों) से प्राप्त शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज की गई. इस पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच की एसआईटी को सौंप दी गई है.

Delhi, Tis Hazari Court, Police, Court, Arson, Skirmish,
झड़प में 12 से अधिक पुलिसकर्मी और वकीलों के कपड़े और वर्दी फट गई.


पुलिसकर्मियों और वकीलों के कपड़े तक फट गए
पुलिसकर्मियों और वकीलों के बीच हुई झड़प में 12 से अधिक पुलिसकर्मी और वकीलों के कपड़े और वर्दी फट गई. इस दौरान 15 गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. इस दौरान एक पीसीआर वैन को भी आग के हवाले कर दिया गया है. जेल वैन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. बताया जाता है कि इस पूरे हंगामे का वीडियो और फोटो बना रहे दर्जनों लोगों के मोबाइल छीनकर तोड़ दिए गए थे.

इसे भी पढ़ें :- दिल्ली: तीस हजारी के बाद कड़कड़डूमा कोर्ट में भी जमकर बवाल

वकीलों के साथ बार काउंसिल ऑफ दिल्ली
बार काउंसिल ऑफ दिल्ली के अध्यक्ष के सी मित्तल ने कहा, ‘हम तीस हजारी अदालत में पुलिस द्वारा वकीलों पर बर्बर और बिना किसी उकसावे के हमले की कड़ी निंदा करते है. एक वकील की हालत नाजुक है. हवालात में एक वकील को पीटा गया. पुलिस ने घोर लापरवाही दिखाई. उन्हें बर्खास्त करना चाहिए और उनपर मुकदमा चलना चाहिए. हम दिल्ली के वकीलों के साथ खड़े हैं.’

असम बार काउंसिल की सदस्य पर पुलिस ने किया हमला
असम बार काउंसिल की सदस्य खुशबू वर्मा कुछ काम से वहां आयी थीं. उन्होंने आरोप लगाया कि घटना के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिसकर्मियों ने उनपर हमला किया. उन्होंने दावा किया, ‘एक भी महिला पुलिसकर्मी मौजूद नहीं थी.’

इसे भी पढ़ें :- Inside Story: तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच ऐसे शुरू हुई थी झड़प!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 10:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...