liveLIVE NOW
  • Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • LIVE UPDATES: देश के विकास लक्ष्यों के लिए महत्वपूर्ण है आधार: नंदन निलेकणी

LIVE UPDATES: देश के विकास लक्ष्यों के लिए महत्वपूर्ण है आधार: नंदन निलेकणी

Aadhaar पर Supreme Court के फैसले के लाइव अपडेट के लिए बने रहें

  • News18Hindi
  • | September 26, 2018, 18:34 IST
    facebookTwitterLinkedin
    LAST UPDATED 3 YEARS AGO

    AUTO-REFRESH

    18:31 (IST)
    देश के विकास लक्ष्यों के लिए महत्वपूर्ण है आधार: नंदन निलेकणी
    आधार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को नंदन निलेकणी ने ऐतिहासिक करार देते हुए कहा कि यह इस कानून की संवैधानिकता पर बस कोई राय भर नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने आधार के संस्थापक सिद्धांतों को स्पष्ट रूप मान्य किया है.  आधार एक अद्वितीय पहचान परियोजना है जो देश के विकास लक्ष्यों के लिए महत्वपूर्ण है.

    16:36 (IST)
    आधार पर न्यायालय ने कांग्रेस के नजरिये का समर्थन किया : राहुल गांधी
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी के लिए आधार सशक्तिकरण का माध्यम था और आज सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कांग्रेस के इसी नजरिये का समर्थन किया है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'कांग्रेस के लिए आधार सशक्तिकरण का माध्यम था। भाजपा के लिए यह यह दमन और निगरानी का साधन है.' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के नजरिये का समर्थन करने और उसकी सुरक्षा करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया.'

    16:22 (IST)
    सुप्रीम कोर्ट में आधार पर फैसले के लिए गठित पांच जजों की संवैधानिक पीठ में से एक जज जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने जस्टिस सीकरी द्वारा सुनाए गए फैसले से अलग राय रखी. उन्होंने कहा कि आधार को धन विधेयक के रूप में पारित किया जाना संविधान के साथ धोखा है. यह संविधान के अनुच्छेद 110 का उल्लंघन करता है और इस आधार पर इसे खारिज किया जा सकता है.

    जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि मोबाइल आज के समय में हर किसी की ज़िंदगी का हिस्सा बन चुका है. ऐसे में इसे आधार से जोड़ना लोगों की निजता, स्वतंत्रता और ऑटोनॉमी के लिए खतरा बन सकता है. मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के प्रावधान ऐसे हैं कि लगता है जैसे हर बैंक एकाउंट खुलवाने वाला व्यक्ति मनी लॉन्ड्रिंग करने वाला है. बैंक एकाउंट खोलने वाले हर व्यक्ति को ये समझना कि वो भविष्य में आतंकवादी बन सकता है, गलत है.

    15:13 (IST)

    केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण है कि सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने आधार की वैधता को 4-1 स्वीकार किया है. रवि शंकर  ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का  बयान आया है.  उनकेअहंकार पर हम कुछ नहीं कह सकते क्योंकि कांग्रेस ने ही इसे शुरू किया था.

    15:11 (IST)

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 100 करोड़ से ज्यादा लोग अबतक आधार कार्ड बनवा चुके हैं. इसके कारण सरकार हर साल 900 करोड़ रुपए बचत करने में सफल रही है क्योंकि यहां कोई जाली कार्ड नहीं है. 

    15:10 (IST)

    अरुण जेटली ने कहा कि हर कोई जो आधार की आलोचना कर रहा है उसे समझना चाहिए कि वे प्रौद्योगिकी को खारिज नहीं कर सकते हैं. मुख्यधारा में बदलावों को स्वीकार करना चाहिए. उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि वह आईडिया तो ले आते हैं लेकिन उस पर आगे काम कैसे करना है यह नहीं जानते.

    15:07 (IST)
    आधार से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा यह ऐतिहासिक फैसला है. न्यायिक समीक्षा के बाद आधार के कॉन्सेप्ट को स्वीकार्यता मिल गई है. हम इस फैसले का स्वागत करते हैं.

    13:30 (IST)

    संबित पात्रा ने कहा, विपक्षी दल ने बिचौलियों का पक्ष लिया, जबकि मोदी सरकार  यह सुनिश्चित करने के लिए आधार लायी  ताकि लाभ सीधे लोगों को दिया जा सके. यही कारण है कि कांग्रेस इसके खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय चली गई थी. पात्रा ने कहा, 'हम इसे मोदी सरकार की बड़ी जीत के रूप में देखते हैं.'

    सुप्रीम कोर्ट बुधवार को केंद्र के महत्वपूर्ण आधार कार्यक्रम और इससे जुड़े 2016 के कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली कुछ याचिकाओं पर फैसला सुना दिया. प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने कहा कि आधार संवैधानिक रूप से वैध है. हालांकि पीठ ने बैंक खातों को आधार से जोड़ने, मोबाइल फोन कनेक्शन तथा स्कूल में दाखिले के लिये विशिष्ट पहचान संख्या की अनिवार्यता खत्म कर दी. सुप्रीम कोर्ट के निर्णय में आयकर रिटर्न और स्थायी खाता संख्या (पैन) से आधार जोड़ने के प्रावधान को बरकरार रखा है.

    शीर्ष अदालत ने कहा कि आधार जनहित में बड़ा काम कर रहा है और आधार का मतलब है अनोखा और सर्वश्रेष्ठ होने के मुकाबले अनोखा होना बेहतर है. संविधान पीठ ने आधार योजना संबंधी कानून और इसे वित्त विधेयक के रूप में पारित कराने को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई की थी. इस मामले में तीन अलग-अलग फैसले सुनाये गये.

    Aadhaar पर Supreme Court के फैसले के लाइव अपडेट  के लिए बने रहें

    विज्ञापन

    विज्ञापन