आज का मौसम, 20 अक्टूबर: आंध्र प्रदेश के लिए मौसम विभाग का अलर्ट, इन राज्यों में हो सकती है बारिश

आज का मौसम, 20 अक्टूबर 2020
आज का मौसम, 20 अक्टूबर 2020

Weather Forecast Today: अगले चौबीस घंटे में नगालैंड, कर्नाटक, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और रायलसीमा के कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 6:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के दक्षिणी हिस्से में आज फिर तेज गरज के साथ बारिश (Weather Update) की आशंका है. भारत मौसम विभाग (IMD) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार मंगलवार को ओडिशा में भारी बारिश की आशंका जाहिर की गई है. इसके साथ ही तेलंगाना, उत्तरी कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र, रायलसीमा, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, दक्षिण कर्नाटक, तटीय कर्नाटक और तटीय आंध्र प्रदेश में गरज और बिजली के साथ भारी बारिश के आसार जताए गए हैं. मौसम विभाग में आंध्र प्रदेश के लिए अलर्ट भी जारी किया है.

इसके साथ ही स्काईमेट वेदर के अनुसार अगले 24 घंटे में गुजरात, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, और अंडमान व निकोबार द्वीप समूह पर भारी बारिश के साथ कई क्षेत्रों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.

दूसरी ओर बंगाल की खाड़ी में बने एक निम्न दबाव के क्षेत्र की वजह से फिर देश के कुछ हिस्सों को भारी बारिश का सामना करना पड़ सकता है. इस दबाव क्षेत्र के अगले 2 से तीन दिनों के भीतर झारखंड और बिहार में बारिश हो सकती है.



इन राज्यों में हो सकती है अगले दो दिनों में बारिश
स्काईमेट की एक रिपोर्ट के अनुसार 22 से 24 अक्टूबर के दौरान बिहार और झारखंड के बीच हल्की बारिश हो सकती है. हालांकि इसका असर छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में नहीं होगा. बताया गया कि इस दबाव की वतह से उत्तर तटीय और गंगीय पश्चिम बंगाल में 21 औऱ 22 अक्टूबर को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की आशंका है.



मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 70 
इसके साथ ही तेलंगाना सरकार ने वर्षा प्रभावित हैदराबाद में और बारिश होने के अनुमान के बीच एहतियात के तौर पर लोगों के घर-घर जाकर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की योजना सोमवार को जारी की. राज्य में पिछले एक सप्ताह में बारिश से संबंधित घटनाओं में मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है.

इस बीच, उत्तरी कर्नाटक में भीमा नदी के खतरे के निशान से ऊपर बहने के कारण बाढ़ के गंभीर हालात बने हुए हैं और कलबुर्गी, विजयपुरा, यादगीर एवं रायचुर जिलों में बड़ी संख्या में गांव अब भी जलमग्न हैं, वहीं 36,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है.

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को कहा कि शहर में बाढ़ प्रभावित घरों को 10 हजार रुपये की तत्काल राहत दी जाएगी. इसके अलावा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त मकान के लिए एक लाख रुपये की सहायता और आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त मकान के लिए 50,000 रुपये की सहायता दी जाएगी. सरकार ने बताया कि यह सहायता मंगलवार से वितरित की जाएगी.

तेलंगाना: लोगों से अपील की गई कि राहत शिविरों में चले जाएं
तेलंगाना के मंत्री के टी रामा राव ने बताया कि अगले दो दिन में भारी बारिश के मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के मद्देनजर निचले क्षेत्रों में रह रहे लोगों से अपील की गई है कि वे राहत शिविरों में चले जाएं.

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि शहर में 1908 के बाद दूसरी सबसे भारी बारिश हुई जिससे राज्य सरकार को निचले क्षेत्रों में रहने वाले करीब 37,000 लोगों को राहत शिविरों में भेजना पड़ा. मंत्री के अनुसार ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) और इसके पड़ोसी इलाकों में 33 लोगों की मौत हो गई तथा और आसपास के जिलों में 37 लोगों की मौत हुई.

उन्होंने भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की ओर से भारी बारिश की चेतावनी के बाद निचले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से अपील की है कि वे या तो सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं या फिर सरकारी राहत शिविरों में शरण लें. मंत्री ने कहा कि अगले दो दिनों में हजारों लोगों को शिविरों में भेजा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज