आज का मौसम, 31 अक्टूबर: कुछ राज्यों में बारिश के आसार, दिल्ली में आज सुधर सकती है हवा

दिल्ली की वायु गुणवत्ता में अगले दो दिन में काफी सुधार की संभावना : सफर
दिल्ली की वायु गुणवत्ता में अगले दो दिन में काफी सुधार की संभावना : सफर

Weather Forecast: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता (Delhi Air Quality) शुक्रवार सुबह ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही. प्रदूषण संबंधी अनुमान जताने वाली सरकारी एजेंसी ने कहा कि हवा की अनुकूल गति के कारण वायु गुणवत्ता में थोड़ा सुधार होने की उम्मीद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 7:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत मौसम विभाग (IMD) की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार देश में दक्षिणी और पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों में शनिवार को हल्की से मध्यम बारिश (Rain Alert) होने की संभावना है. बाकी देश में मौसम शुष्क और साफ बना रहेगा. बताया गया कि केरल, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, नगालैंड, मिजोरम, मणिपुर, त्रिपुरा, असम और मेघालय में बारिश हो सकती है. इसके साथ ही कर्नाटक, अंडमान-निकाबोर द्वीप समूह के भी कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है.

वहीं राष्ट्रीय राजधानी में अगले दो दिन में वायु गुणवत्ता (Delhi Air Pollution) में काफी सुधार होने की संभावना है. केन्द्र सरकार की वायु गुणवत्ता निगरानी एजेंसी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी प्रणाली ‘सफर’ के अनुसार, दिल्ली की हवा में पीएम 2.5 के संकेंद्रण में पराली जलाने की हिस्सेदारी शुक्रवार को 19 प्रतिशत रही.

पड़ोसी राज्यों में खेतों में आग लगने की मामले बुधवार को 2,912 थे जो बृहस्पतिवार को घट कर 1,143 हो गए. इसने बताया कि दिल्ली के समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) में मामूली सुधार हुआ है और यह ‘बेहद खराब’ की श्रेणी के नजदीक बना हुआ है.



वायु गुणवत्ता में सुधार की उम्मीद
सफर के अनुसार वायु की गति बढ़ने और इससे वायु गुणवत्ता में सुधार की उम्मीद है. इसके अनुसार एक नवंबर तक काफी सुधार होने का अनुमान है और वायु गुणवत्ता के 'खराब' की श्रेणी में आने की उम्मीद है.

राष्ट्रीय राजधानी में वायु गुणवत्ता शुक्रवार की सुबह ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही. दिल्ली में सुबह साढ़े नौ बजे एक्यूआई 380 दर्ज किया गया. गुरुवार को 24 घंटे का औसत एक्यूआई 395 रहा. यह बुधवार को 297, मंगलवार को 312, सोमवार को 353 और रविवार को 349 था.

शादीपुर (417), पटपड़गंज (406), बवाना (447) और मुंडका (427) समेत कई निगरानी स्टेशनों पर एक्यूआई ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज किया गया. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में भी वायु गुणवत्ता खराब रही. गौतमबुद्ध नगर में एक्यूआई 386, फरीदाबाद में एक्यूआई 346, गाजियाबाद में एक्यूआई 378, इंदिरापुरम में 384,बल्लभगढ़ में 348, मेरठ में 300, बागपत में 378, बहादुरगढ़ में 348, गुरूग्राम में 372 और भिवानी में एक्यूआई 332 दर्ज किया गया है.

0 और 50 के बीच एक्यूआई को 'अच्छा', 51 और 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 और 200 के बीच 'मध्यम', 201 और 300 के बीच 'खराब', 301 और 400 के बीच 'बेहद खराब' और 401 से 500 के बीच 'गंभीर' माना जाता है.

नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद में वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के ग्रेटर नोएडा, नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद में शुक्रवार को वायु गुणवत्ता ‘ बेहद खराब’ रही. वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) दर्ज करने वाले केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक दिल्ली के आसपास के पांच पड़ोसी शहरों की हवा में सबसे प्रमुख प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 भी उच्च स्तर पर बने हुए हैं.



सीपीसीबी के समीर ऐप पर शुक्रवार शाम चार बजे अंकित आंकड़ों के मुताबिक ग्रेटर नोएडा में गत 24 घंटे का औसत एक्यूआई 394 रहा. इसी प्रकार गाजियाबाद में 382, नोएडा में 379, गुरुग्राम में 367, फरीदाबाद में 337 औसत एक्यूआई दर्ज किया गया. ऐप के मुताबिक नोएडा, ग्रेटर नोएडा और फरीदाबाद में मुख्य प्रदूषण पीएम 2.5 और पीएम 10 रहे जबकि गाजियाबाद और गुरुग्राम के प्रदूषण में पीएम 2.5 की प्रमुखता रही. ऐप के मुताबिक दिल्ली के पांच उपग्रह शहरों में से चार में एक-एक वायुगुणवत्ता निगरानी केंद्र है जबकि ग्रेटर नोएडा में दो निगरानी केंद्र है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज