केजरीवाल बोले- 9/11 अटैक जैसी थी नोटबंदी, अर्थव्यवस्था पर किया गहरा घाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर, 2016 को नोटबंदी की घोषणा की थी, जिसके तहत उन दिनों प्रचलन में रहे 500 और 1000 रुपये के नोट तत्काल प्रभाव से चलन से बाहर हो गए थे.

News18Hindi
Updated: November 8, 2018, 11:40 PM IST
केजरीवाल बोले- 9/11 अटैक जैसी थी नोटबंदी, अर्थव्यवस्था पर किया गहरा घाव
अरविंद केजरीवाल
News18Hindi
Updated: November 8, 2018, 11:40 PM IST
आम आदमी पार्टी (AAP) ने गुरुवार को नोटबंदी को ‘त्रासदी’ करार देते हुए इसकी तुलना अमेरिका पर हुए आतंकी हमले 9/11 से की. दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने नोटबंदी की जरूरत पर सवालिया निशान लगाते हुए इसे देश की अर्थव्यवस्था पर ‘खुद से दिया गया गहरा घाव’ करार दिया.

5 राज्यों में चुनाव के ऐलान के बाद केजरीवाल ने कहा- मोदी को हराना है तो कांग्रेस को वोट न दें

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर, 2016 को नोटबंदी की घोषणा की थी, जिसके तहत उन दिनों प्रचलन में रहे 500 और 1000 रुपये के नोट तत्काल प्रभाव से चलन से बाहर हो गए थे. नोटबंदी के ऐलान से नकदी संकट पैदा हो गया और बैंकों में पुराने नोट बदलने के लिए लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग गई थीं.

'जिन्‍होंने अरविंद केजरीवाल को बनाया तानाशाह, वो ही आज छोड़ रहे आम आदमी पार्टी'

केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'मोदी सरकार के वित्तीय घोटालों की सूची अंतहीन है, नोटबंदी भारतीय अर्थव्यवस्था को खुद से दिए गए गहरे घाव की तरह है. दो साल पूरा होने के बाद भी यह रहस्य बना हुआ है कि देश को इस आपदा में क्यों धकेला गया था.’

आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा, ‘ जैसे 9/11 (अमेरिकी आतंकी हमला) को अमेरिका के इतिहास में दर्दनाक और अत्यंत दुख के दिन के रूप में याद किया जाता है, हम भारतीय 8/11 को हमारी अर्थव्यवस्था को झकझोरने वाली त्रासदी के रूप में याद करते हैं.’

उन्होंने नोटबंदी को आजाद भारत की ‘सबसे बड़ी आर्थिक नाकामी’ करार दिया और दावा किया कि इसकी वजह से 35 लाख लोगों की नौकरियां गईं, जबकि 115 लोगों की लंबी कतारों में मौत हो गई, जिसके लिए कोई मुआवजा नहीं दिया गया. (एजेंसी इनपुट)
Loading...

और भी देखें

Updated: November 14, 2018 04:29 PM ISTVIDEO: प्रदेश में 'आप' की सरकार बनने पर दिल्ली जैसा परिवर्तन दिखेगा: गोपाल राय
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर