लाइव टीवी

वायु प्रदूषण में 25% कमी का आप सरकार का दावा सही नहीं: ग्रीनपीस इंडिया

भाषा
Updated: November 8, 2019, 6:19 AM IST
वायु प्रदूषण में 25% कमी का आप सरकार का दावा सही नहीं: ग्रीनपीस इंडिया
आप सरकार के दावों के विपरीत एनजीओ ग्रीनपीस इंडिया ने कहा है कि कुछ मामलों में प्रदूषण बढ़ा है.

ग्रीनपीस (Greenpeace) ने कहा है कि दिल्ली (Delhi) और हरियाणा-पंजाब (Haryana-Punjab) में कोयले (Coal) की खपत 2015-16 से 2018-19 के बीच 17.8 प्रतिशत बढ़ी है. इस दौरान पेट्रोलियम उत्पादों की खपत 3.3 प्रतिशत बढ़ी है, जिससे प्रदूषण (Pollution) बढ़ा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पर्यावरण (Environment) के क्षेत्र में काम करने वाले गैर सरकारी संगठन ग्रीनपीस इंडिया (Greenpeace India) ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) का यह दावा सही नहीं है कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान वायु प्रदूषण में 25 प्रतिशत की कमी आई है. हालांकि, आप ने एनजीओ की यह रिपोर्ट खारिज कर दी है. एनजीओ के विश्लेषण के मुताबिक, ‘दिल्ली और आसपास के राज्यों में वायु गुणवत्ता निगरानी और उपग्रह के आंकड़ों के साथ ही पेट्रोल-डीजल जैसे जीवाश्म ईंधनों की बढ़ती खपत को मिलाकर देखें तो सरकार का यह दावा सही नहीं लगता है कि पिछले वर्षों के दौरान प्रदूषण के स्तर में 25 प्रतिशत की कमी आई है.’

आप प्रवक्ता ने ग्रीनपीस की रिपोर्ट को नकारा
ग्रीनपीस की रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि उनके लिए यह विश्लेषण महत्वहीन है. उन्होंने कहा कि केंद्र ने उच्चतम न्यायालय में दायर हलफनामे में कहा है कि दिल्ली में प्रदूषण घटा है और अक्टूबर और नवंबर में प्रदूषण पराली जलाने से हो रहा है.

केजरीवाल ने किया था यह दावा

दिल्ली सरकार के विज्ञापनों में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि पीएम 2.5 ( हवा में मौजूद 2.5 माइक्रॉन के बराबर या कम व्यास के कण) का स्तर 2016 और 2018 के बीच घटकर औसतन 115 रह गया है, जो 2012 और 2014 के बीच औसतन 154 था. इन दावों को मानें तो प्रदूषण में 25 प्रतिशत की कमी आई है.

साल 2018 के बाद के हिस्से में प्रदूषण में थोड़ी कमी देखने को मिली
हालांकि, ग्रीनपीस इंडिया ने कहा है कि उपग्रह के आंकड़े बताते हैं कि इन कणों में 2013 से 2018 के बीच कोई संतोषजनक कमी नहीं आई है. पिछले तीन वर्षों की तुलना में सिर्फ साल 2018 के बाद के हिस्से में प्रदूषण में थोड़ी कमी देखने को मिली है.
Loading...

ये भी पढ़ें - 

भाजपा और शिवसेना के बीच जो भी ‘निर्णय’ हुआ था, उसे सार्वजनिक करें: BJP नेता

पाकिस्तान में विपक्ष ने इमरान को इस्तीफा देने के लिए 48 घंटे की डेडलाइन दी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 6:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...