होम /न्यूज /राष्ट्र /'दिल्ली मॉडल' पर केरल के मंत्री ने आतिशी को घेरा, झूठ बोलने का लगाया आरोप, AAP नेता ने दिया ये जवाब

'दिल्ली मॉडल' पर केरल के मंत्री ने आतिशी को घेरा, झूठ बोलने का लगाया आरोप, AAP नेता ने दिया ये जवाब

आप नेता आतिशी के दावे को केरल के शिक्षा मंत्री ने बताया गलत (Image- Twitter)

आप नेता आतिशी के दावे को केरल के शिक्षा मंत्री ने बताया गलत (Image- Twitter)

AAP Leader Atishi Marlena: आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी के एक दावे को केरल के शिक्षामंत्री शिवनकुट्टी ने खारिज कर दिय ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी (AAP Leader Atishi Marlena) के एक बयान को केरल के शिक्षा मंत्री ने गलत बताया है. शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी (Kerala Minister V. Sivankutty) ने आतिशी मार्लेना के उस दावे को खारिज किया है कि, केरल के शिक्षा अधिकारी दिल्ली के एजुकेशन मॉडल को समझने और अपने राज्य में लागू करने के इच्छुक हैं. उन्होंने स्पष्ट किया कि केरल के शिक्षा विभाग ने दिल्ली मॉडल के बारे में जानने के लिए किसी अधिकारी को नहीं भेजा.

केरल के शिक्षा मंत्री शिवनकुट्टी ने ट्वीट करते हुए कहा कि, केरल के शिक्षा विभाग ने किसी अधिकारी को दिल्ली मॉडल के बारे में जानने के लिए नहीं भेजा. लेकिन हम जानना चाहेंगे कि आप विधायक ने किन अधिकारियों का स्वागत किया. उन्होंने आतिशी मार्लेना के उस बयान को भी गलत बताया जिसमें उन्होंने कहा था कि, पिछले महीने केरल मॉडल का अध्ययन करने के लिए दिल्ली से आए अधिकारियों को भी हरसंभव मदद दी गई.

Image- Twitter

Image- Twitter

इससे पहले आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी मार्लेना ने ट्वीट के साथ कुछ तस्वीरें शेयर करके कहा था कि, कालका जी स्थित स्कूल में केरल के अधिकारियों की मेजबानी करना खास रहा. वे हमारे शिक्षा मॉडल को अपने राज्य में लागू करने के इच्छुक थे.

DU के छात्रों ने थामा आम आदमी पार्टी का दामन, टोपी व पटका पहनाकर यूथ व‍िंग में स्‍वागत

वहीं केरल के शिक्षा मंत्री शिवनकुट्टी के सवाल का जवाब देते हुए आतिशी मार्लेना ने कहा कि, “प्रिय शिवनकुट्टी जी, अच्छा होता अगर आपने इस मुद्दे पर ट्वीट करने से पहले तथ्य की जांच की होती. आप हमारी प्रेस विज्ञप्ति को देखना चाहेंगे कि हमने वास्तव में क्या कहा!”

Image- Twitter

Image- Twitter

दरअसल ऐसा बताया जा रहा है कि दिल्ली आए ये अधिकारी केरल के थे लेकिन केरल सरकार के प्रतिनिधि नहीं थे. दिल्ली सरकार की प्रेस विज्ञप्ति में इन अधिकारियों को “गणमान्य व्यक्ति” और “शिक्षाविद” के रूप में संदर्भित किया है.

Tags: AAP, Arvind kejriwal, Kerala Government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें