होम /न्यूज /राष्ट्र /

'आप' सांसद राघव चड्ढा ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, संसद में आवाज उठाने को पंजाबियों से मांगे सुझाव

'आप' सांसद राघव चड्ढा ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, संसद में आवाज उठाने को पंजाबियों से मांगे सुझाव

सांसद राघव चड्ढा ने शुरू की हेल्पलाइन, पंजाबियों से संसद में उन मुद्दों की मांग की जिन्हें संसद में उठाना जरुरी हो.  (फोटो-न्यूज़18)

सांसद राघव चड्ढा ने शुरू की हेल्पलाइन, पंजाबियों से संसद में उन मुद्दों की मांग की जिन्हें संसद में उठाना जरुरी हो. (फोटो-न्यूज़18)

सांसद चड्डा ने कहा कि हेल्पलाइन नंबर 9910944444 पर अपने सुझाव या फीडबैक देकर उन मुद्दों के बारे में बता सकते हैं, जिन्हें उनकी नजर में संसद में उठाया जाना चाहिए. चड्ढा ने कहा कि वे इस नंबर पर वॉट्सऐप के जरिए वीडियो या दस्तावेज भी भेज सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य तीन करोड़ पंजाबियों की चिंताओं को दूर करना और सुझाव लेना है, जिनकी आवाज शायद ही कभी संसद में सुनी जाती है. इसके माध्यम से, लोग सीधे मुझसे संपर्क कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि मैं वह माध्यम बनूंगा जिसके जरिए पंजाब के लोग अपनी चिंताओं को प्रकट कर सकते हैं. मैं इस हेल्पलाइन पर प्राप्त होने वाले हर सुझाव पर विचार करने का संकल्प लेता हूं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने पंजाब सबंधी मुद्दों को संसद में उठाने के लिए एक हेल्पलिबे हेल्पलाइन नंबर जारी किया है.
हेल्पलाइन नंबर है-9910944444, जिसपे कोई भी पंजाब सम्बन्धी मुद्दों को उन्हें व्हाट्सएप्प कर सकता है.

चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने पंजाब में अपना अधिकार जताने की कोशिश में एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. जिस पर पंजाबी उन मुद्दों का सुझाव दे सकते हैं, जिन्हें वे संसद में उठाना चाहते हैं. सांसद राघव चड्ढा ने पंजाब के लोगों से पूछा कि किन मुद्दों को संसद में उठाया जाना चाहिए. चड्ढा ने कहा कि वह लोगों के कल्याण के लिए काम करने की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के उनके समकक्ष भगवंत मान की दृढ़ प्रतिबद्धता से प्रेरित हैं. 

वॉट्सऐप के जरिए भेज सकते हैं दस्तावेज
उन्होंने कहा कि लोग 9910944444 पर अपने सुझाव या फीडबैक देकर उन मुद्दों के बारे में बता सकते हैं, जिन्हें उनकी नजर में संसद में उठाया जाना चाहिए. चड्ढा ने कहा कि वे इस नंबर पर वॉट्सऐप के जरिए वीडियो या दस्तावेज भी भेज सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य तीन करोड़ पंजाबियों की चिंताओं को दूर करना और सुझाव लेना है, जिनकी आवाज शायद ही कभी संसद में सुनी जाती है. इसके माध्यम से, लोग सीधे मुझसे संपर्क कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि मैं वह माध्यम बनूंगा जिसके जरिए पंजाब के लोग अपनी चिंताओं को प्रकट कर सकते हैं. मैं इस हेल्पलाइन पर प्राप्त होने वाले हर सुझाव पर विचार करने का संकल्प लेता हूं.  चड्ढा ने इससे पहले देश में ईंधन की बढ़ती कीमतों, पंजाब के गिरते भूजल स्तर और सरकार की ”किसान विरोधी” नीतियों से संबंधित मुद्दों को संसद में उठाया था. 

सीएम मान ने संबंधों पर दी सफाई
उधर सीएम मान और चड्ढा के करीबी दोनों इस बात से इनकार कर रहे हैं कि कि पूर्व एजी अनमोल रतन सिंह सिद्धू के इस्तीफे के बाद दोनों नेताओं के बीच कोई अनबन है. जहां सीएम ने स्पष्ट रूप से कहा कि उनके और चड्ढा के बीच दरार की अफवाहें आप में राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा फैलाई जा रही थीं, वहीं चड्ढा के करीबी लोगों ने भी इसे निराधार राजनीतिक अटकलों के रूप में खारिज कर दिया है. हालांकि, पार्टी के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि हालांकि कोई दरार नहीं थी, लेकिन पार्टी के शीर्ष नेताओं द्वारा दोनों नेताओं के बीच शक्ति का एक अच्छा संतुलन बनाया जा रहा था, ताकि सत्ता के किसी भी केंद्रीकरण से बचा जा सके.

Tags: Monsoon Session of Parliament, Raghav Chaddha

अगली ख़बर