आरोग्य सेतु बताएगा Corona Vaccination का भी स्टेटस, अपग्रेड हुआ ऐप

आरोग्य सेतु टीकाकरण का भी स्टेटस बताएगा.

आरोग्य सेतु टीकाकरण का भी स्टेटस बताएगा.

कोरोना संक्रमितों का डेटा रखने के लिए बनाए गए भारतीय एप्लीकेशन आरोग्य सेतु को अपग्रेड किया गया है. अब इस एप्लीकेशन में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के अलावा वैक्सीनेशन का स्टेटस भी अपडेट होगा. वैक्सीन लेने वाले लोगों के ऐप पर डबल ब्लू टिक दिखाई देगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. साल 2020 में कोरोना संक्रमितों का डेटा रखने और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के लिए लॉन्च किए गए आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) ऐप को अब कोरोना की दूसरी लहर में अपग्रेड कर दिया गया है. अब ये एप्लीकेशन सिर्फ ट्रेसिंग नहीं करेगा, बल्कि वैक्सीनेशन के भी स्टेटस को बताएगा.

आरोग्य सेतु के ट्विटर अकाउंट पर मंगलवार को बताया गया, 'अब आपका वैक्सीनेशन स्टेटस आरोग्य सेतु ऐप पर भी अपडेट किया जा सकेगा.' लोगों से अपील की गई है कि टीकाकरण कराएं और ऐप पर डबल ब्लू टिक और ब्लू शील्ड हासिल करें.

ऐसे काम करता है आरोग्य सेतु (Aarogya Setu)

आरोग्य सेतु ऐप ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी और कॉन्टैक्ट नंबर का इस्तेमाल कर डेटा हासिल करता है. कोरोना टेस्टिंग के सभी रिजल्ट लैबोरेट्रीज के द्वारा अपलोड किए जाते हैं और फिर ICMR उनका विश्लेषण करता है. जब भी कोई शख्स कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो ICMR यूज़र का नंबर आरोग्य सेतु के साथ शेयर करता है और एप्लीकेशन का डेटा अपडेट हो जाता है. ऐप का संचालन एनआईसी करता है. अब वैक्सीनेटेड लोगों का भी डेटा एप्लीकेशन पर अपडेट होगा और पता चल सकेगा कि कितने लोगों को टीका लग चुका है. टीका लगवाने वाले ऐप यूज़र को डबल ब्लू टिक मिलेगा, जिससे वो बता सकेगा कि वो टीका लगवा चुका है.

Youtube Video

ये भी पढ़ें- Covaxin को मंजूरी के मामले में WHO ने भारत बायोटेक से मांगी कुछ और जानकारियां 

आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) के जरिये रजिस्ट्रेशन भी



टीका लगवाने वाले शख्स को ब्लू टिक के जरिये पॉजिटिव मार्क किया जाता है और उसके स्टेटस का रंग भी बदलकर लाल हो जाता है. अब तक देश में कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन और अप्वाइंटमेंट के लिए Co-WIN पोर्टल का इस्तेमाल किया जा रहा है, लेकिन सरकार ने अब रजिस्ट्रेशन की सुविधा आरोग्य सेतु ऐप के जरिए दी है. देश में अब तक 20 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है. वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत 16 जनवरी 2021 से की गई है. जिसके पहले राउंड में फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका दिया गया, दूसरे राउंड में बुजुर्गों को टीका दिया गया और अब टीकाकरण का तीसरा राउंड चल रहा है. देश के कई राज्यों में 18 से 44 साल की उम्र के लोगों को भी टीका लगना शुरू हो चुका है. देश के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया कि साल के अंत तक सरकार सभी वयस्कों के टीकाकरण की स्थिति में होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज