अपना शहर चुनें

States

TMC सांसद अभिषेक बनर्जी ने कहा, PM राजनीति में एक परिवार के केवल 1 सदस्य का विधेयक लाएं, 24 घंटे में छोड़ दूंगा पार्टी

तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी पर साधा निशाना.
 (फोटो साभार-PTI)
तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी पर साधा निशाना. (फोटो साभार-PTI)

अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि जो लोग परिवारवाद की बात कर रहे हैं, उनके खुद के नेताओं के परिवार के कई सदस्य इस समय राजनीति में हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 4:47 PM IST
  • Share this:
कुलटाली. तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के सांसद एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee) के भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि जो लोग परिवारवाद की बात कर रहे हैं, उनके खुद के नेताओं के परिवार के कई सदस्य इस समय राजनीति में हैं. उन्होंने इस दौरान मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय, सुवेन्दु अधिकारी और राजनाथ सिंह का नाम लेते हुए कहा कि इन सभी नेताओं का कोई न कोई परिवारिक सदस्य राजनीति में है.

अपने विरोधी दल भाजपा को सीधी चुनौती देते हुए उन्होंने कहा, अगर केंद्र परिवार के एक ही सदस्य के राजनीति में आने की अनुमति देने संबंधी एक कानून लेकर आएगा तो वह 24 घंटे के अंदर राजनीति छोड़ देंगे. अभिषेक बनर्जी ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो हमारे परिवार से केवल ममता बनर्जी ही राजनीति में होंगी. अभिषेक ने कहा, 'मैं पीएम से अनुरोध करता हूं कि संसद में एक विधेयक लाकर राजनीति में एक परिवार के केवल 1 सदस्य को अनुमति दी जाए.'

Trinamool Congress, Mamata Banerjee, Abhishek Banerjee, Rajnath Singh, TMC, BJP




भाजपा नेताओं द्वारा उन्हें ‘लुटेरा’ कहने पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनके ऊपर लगाए गए एक भी आरोप कोई साबित कर दे तो वह सार्वजनिक रूप से फांसी पर झूल जाएंगे. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर शनिवार को विक्टोरिया मेमोरियल में हुई घटना का संदर्भ देते हुए बनर्जी ने कहा कि ‘जय श्रीराम’ के नारे जानबूझकर ममता बनर्जी को भाषण देने से रोकने के लिए लगाए गए थे.

इसे भी पढ़ें :- TMC सांसद अभिषेक बनर्जी का बेतुका बयान- PM तक में 'भतीजे' का नाम लेने का साहस नहीं

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री की उपस्थिति में नारे लगाए जाने के बाद ममता बनर्जी ने भाषण देने से इनकार कर दिया था. तृणमूल कांग्रेस सांसद ने कहा, ‘‘हमें गर्व है कि ममता बनर्जी ने साफ कर दिया कि सरकारी कार्यक्रम में अगर ऐसे नारों से नेताजी का अपमान किया जाएगा तो हम उसका विरोध करने के लिए खड़े होंगे. बंगाल विरोध करने के लिए खड़ा होगा.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज