डॉक्टरों पर हिंसा को लेकर IMA की चेतावनी- नहीं बना कानून तो 23 अप्रैल को काला दिवस

डॉक्टरों पर हिंसा को लेकर IMA की चेतावनी- नहीं बना कानून तो 23 अप्रैल को काला दिवस
IMA ने मांग की कि स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अपशब्द और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए.

Coronavirus: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) ने सोमवार को एक संदेश जारी कर कहा कि हमें सुरक्षित कार्यस्थल उपलब्ध कराए जाएं. उन्होंने मांग की कि स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अपशब्द और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए.

  • Last Updated: April 20, 2020, 4:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत समेत पूरी दुनिया कोरोना वायरस (Coronavirus) का प्रकोप झेल रही है. देश में अब तक 17 हजार से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं. पूरी दुनिया में स्वास्थ्यकर्मी कोविड-19 (Covid-19) से कम से कम जान का नुकसान होने देने का प्रयास कर रहे हैं वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो डॉक्टर्स और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं. इसे लेकर डॉक्टर्स के संगठन आवाज भी उठा रहे हैं.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) ने सोमवार को एक संदेश जारी कर कहा कि हमें सुरक्षित कार्यस्थल उपलब्ध कराए जाएं. उन्होंने मांग की कि स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अपशब्द और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सभी डॉक्टर और अस्पताल इसके विरोध में 22 अप्रैल की रात 9 बजे एक मोमबत्ती जलाएंगे जो 'व्हाइट अलर्ट टू द नेशन' होगा.


23 अप्रैल को घोषित किया जाएगा काला दिवस
एसोसिएशन की ओर से आगे कहा गया कि यदि सरकार व्हाइट अलर्ट के बाद भी डॉक्टरों और अस्पतालों के खिलाफ हिंसा पर केंद्रीय कानून लागू करने में विफल रहती है, तो IMA 23 अप्रैल को काला दिवस घोषित करेगा. देश के सभी डॉक्टर काली पट्टी बांधकर काम करेंगे. इस संदेश में आगे कहा गया कि यदि काला दिवस के बाद भी सरकार इस विषय पर कोई फैसला नहीं करती तो इसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा.



संदेश में कहा गया है कि कभी राज्य और स्थानीय शाखाओं से निवेदन है कि वह इस संदेश को सभी सदस्यों तक तुरंत पहुंचाएं और सफेद कोट पहन कर मोमबत्ती जलाएं. व्हाइट अलर्ट सिर्फ चेतावनी है.

ये भी पढ़ें :-

Coronavirus: भारत में कमजोर पड़ रहा कोरोना वायरस, ये 7 बातें करती हैं इशारा

ये देश देते हैं World Health Organization को सबसे ज्यादा धन, जानिए अब क्यों है चर्चा में
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज