लाइव टीवी
Elec-widget

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आरक्षण लागू करवाएगी ABVP !

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 26, 2019, 7:47 PM IST
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आरक्षण लागू करवाएगी ABVP !
एबीवीपी ने कहा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आरक्षण संवैधानिक अधिकार है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एबीवीपी (ABVP) की राष्ट्रीय महासचिव निधि त्रिपाठी ने कहा कि जब देश भर के विश्वविद्यालयों में आरक्षण की व्यवस्था लागू है तो आखिर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) में क्यों नहीं लागू है यह विचारणीय प्रश्न है.

  • Share this:
आगरा. जनपद में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन पर परिषद के राष्ट्रीय नेतृत्व ने एएमयू में आरक्षण के मुद्दे पर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) में आरक्षण छात्र-छात्राओं का संवैधानिक अधिकार है और एएमयू (AMU) में आरक्षण लागू कराने के लिए एबीवीपी (ABVP) पूरे जोर-शोर से प्रयास करेगी.

संवैधानिक अधिकार
22 से 25 नवंबर तक आगरा कालेज में चले राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन के अगले दिन एबीवीपी (ABVP) शीर्ष नेतृत्व ने अधिवेशन में हुए मंथन और आगामी योजनाओं के बारे में मीडिया को विस्तार से जानकारी दी. एबीवीपी की राष्ट्रीय महासचिव निधि त्रिपाठी ने बताया कि जब देश भर के विश्वविद्यालयों में आरक्षण की व्यवस्था लागू है तो आखिर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) में क्यों नहीं लागू है यह विचारणीय प्रश्न है. उन्होंने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में आरक्षण लागू कराने के लिए एबीवीपी सतत सक्रिय है और इस मामले में ठोस रणनीति बनाई गई है. एएमयू में आरक्षण छात्र-छात्राओं का संवैधानिक अधिकार है.

जेएनयू (JNU) पर भी अपनी राय देते हुए ABVP ने कहा जेएनयू (JNU) में राष्ट्र विरोधी तत्वों की विचारधारा को समाप्त करने का काम भी एबीवीपी कार्यकर्ता करेंगे. छात्र आंदोलनों की रूपरेखा स्पष्ट करने के साथ ही एबीवीपी की राष्ट्रीय महासचिव निधि त्रिपाठी ने कहा कि जालियां वाला बाग से आई मिट्टी देश भर के स्कूलों-कालेजों में एबीवीपी कार्यकर्ता ले जाएंगे. जालियां वाला बाग की मिट्टी के जरिए देश भक्तों के बलिदान से विद्यार्थी भावनात्मक रूप से जुड़ सकेंगे.

एबीवीपी महासचिव निधि ने जेएनयू पर चर्चा करते हुए कहा कि जेएनयू कैंपस में चंद राष्ट्र विरोधी ताकतें देश विरोधी नारे लगाती हैं और एबीवीपी इसका प्रबल विरोध करती रही है. अब देश विरोधी तत्वों की संख्या सिमट रही है अर्बन नक्सलवाद से जुड़े लोग ही जेएनयू (JNU) का माहौल खराब करते हैं और एबीवीपी जेएनयू में अपना दायरा लगातार बढ़ाने के साथ ही राष्ट्रवाद का निर्माण करने में जुटी है.

पूरे देश में जल्दी लागू हो NRC
एबीवीपी (ABVP) के शीर्ष नेतृत्व ने जानकारी दी कि जालियां वाला बाग के कार्यकर्ता अपने साथ वहां की मिट्टी लाए थे. जालियांवाला बाग की क्रांतिकारी मिट्टी कलश में भरकर देश के विभिन्न प्रांतों से आए कार्यकर्ताओं को दे दी गई है. एबीवीपी कार्यकर्ता जालियांवाला बाग की मिट्टी लेकर अपने-अपने कालेजों में जाएंगे और छात्र-छात्राओं को जालियांवाला बाग की घटना से विस्तार से बताएंगे.
Loading...

एबीवीपी ने स्पष्ट कहा कि जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, महाराष्ट्र सहित अनेक स्थानों पर घुसपैठियों की संख्या बढ़ी है, ऐसे में एबीवीपी की मांग है कि जल्द से जल्द पूरे देश में एनआरसी (NRC) को लागू किया जाए. एनआरसी लागू होने से भारत का सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक ढांचा मजबूत होगा. एबीवीपी ने अपने अधिवेशन में यह प्रस्ताव पास किया कि देश में विघटनकारी तत्व अपने कुत्सित प्रयास से राष्ट्र की अखंडता और एकता को क्षति पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं. पूरे देश में इन विघटनकारी तत्वों के खिलाफ एबीवीपी (ABVP) निर्णायक लड़ाई लड़ेगी.

ये भी पढ़ें - अयोध्‍या मामला निपटाने के लिए CM योगी ने सुप्रीम कोर्ट का जताया आभार, बोले- दुनिया को शांति का संदेश देने में सक्षम है भारत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 7:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...