रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया कमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट का एडिशनल कमिश्नर

आंध्रप्रदेश के भ्रष्ट एडिश्नल कमिश्नर यू. एदुकोंडालु ने एक मल्टीनेशनल कंपनी आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लिमिटेड से 23 लाख रुपये की घूस मांगी थी. कंपनी की एक फाइल भ्रष्ट बाबू ने अटका रखी थी. कंपनी को इनपुट टैक्स क्रैडिट के रूप में सरकार से 4 करोड़ 67 लाख रुपये वापस मिलने थे.

Sanjay Tiwari | News18Hindi
Updated: January 13, 2018, 8:23 AM IST
रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया कमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट का एडिशनल कमिश्नर
आंध्रप्रदेश के भ्रष्ट एडिश्नल कमिश्नर यू. एदुकोंडालु (फाइल फोटो)
Sanjay Tiwari | News18Hindi
Updated: January 13, 2018, 8:23 AM IST
देश में ज्यादातर लोग दिन-रात खपने के बाद भी सालभर में जितना पैसा नहीं कमा पाते, उससे कहीं ज्यादा की काली कमाई व्यवस्था में दीमक की तरह बैठे भ्रष्ट अफसर एक झटके में कर लेते हैं. आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कमर्शियल टैक्स विभाग के एडिशनल कमिश्नर को एंटी करप्शन ब्यूरो ने रंगे हाथों नहीं पकड़ा होता, तो वो एक बार में 23 लाख रुपये रिश्वत में लेकर घर चला जाता.

आंध्रप्रदेश के भ्रष्ट एडिश्नल कमिश्नर यू. एदुकोंडालु ने एक मल्टीनेशनल कंपनी आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लिमिटेड से 23 लाख रुपये की घूस मांगी थी. कंपनी की एक फाइल भ्रष्ट बाबू ने अटका रखी थी. कंपनी को इनपुट टैक्स क्रैडिट के रूप में सरकार से 4 करोड़ 67 लाख रुपये वापस मिलने थे.

बता दें कि इनपुट टैक्स क्रैडिट यानी दोहरे कराधान से बचाने के लिए सरकार की तरफ से कारोबारियों को छूट मिलती है. यह कारोबारी का ही पैसा होता है, जो उसने पहले टैक्स के रूप में पहले चुकाया होता है, लेकिन बाद में उसका कुछ भाग वापस मिल जाता है.

आईटीडी सीमेंटेशन ने 2010 से 2014 के बीच गन्नावर पोर्ट, विशाखापट्टनम पोर्ट ट्रस्ट और विशाखापट्टनम स्टील प्लांट में कुछ काम किए थे. उन्हीं काम से जुड़ा 4 करोड़ 67 लाख रुपये का इनपुट टैक्स क्रैडिट कंपनी को सरकार से रिफंड लेना था. लेकिन, एडिशनल कमिश्नर साहब बिना घूस लिए फाइल पर अपनी कलम चलाने को ही तैयार नहीं थे.

एंटी करप्शन ब्यूरो के मुताबिक, कमर्शियल टैक्स विभाग के रिफंड सेक्शन के अधीक्षक के. अनंत रेड्डी भी इसमें शामिल हैं और फाइल चलाने से लेकर उसे एडिश्नल कमिश्नर से पास कराने के लिए खुल्लम-खुल्ला 23 लाख 20 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की गई. कंपनी के लीगल एडवाइजर गोपाल शर्मा और डिप्टी मैनेजर के. सत्यनारायण रिश्वत की रकम लेकर एडिश्नल कमिश्नर यू. एदुकोंडालु के दफ्तर पहुंचे.

आंध्र प्रदेश के एंटी करप्शन विभाग के महानिदेशक आर पी ठाकुर ने बताया कि 'एसीबी को सूचना मिली थी कि एक मल्टीनेशनल कंपनी के कुछ लोग कमर्शियल टैक्स विभाग के एडिश्नल कमिश्नर को रिश्वत की मोटी रकम देने आने वाले हैं. इसके बाद बाद एसीबी की टीम अलर्ट हो गई और जैसे ही रिश्वत की रकम दी गई, वैसे ही एसीबी ने छापा मारकर एडिश्नल कमिश्नर को 23 लाख 20 हजार रुपयों के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया'.

इसके बाद पूछताछ में खुलासा हुआ कि सुप्रीटेंडेंट के. अनंत रेड्डी भी इसमें शामिल हैं. एसीबी ने कमर्शियल टैक्स विभाग के दोनों भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

ये भी पढ़ें: केस मैनेज करने के लिए 7 हजार रुपए घूस लेते ASI चढ़ा निगरानी के हत्थे
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

Updated: June 16, 2018 10:34 AM ISTVIDEO: राजाजी टाइगर रिजर्व अगले 6 महीने के लिए बंद
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर