Home /News /nation /

पाक के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर को हासिल करना मोदी सरकार का अगला एजेंडा: जितेंद्र सिंह

पाक के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर को हासिल करना मोदी सरकार का अगला एजेंडा: जितेंद्र सिंह

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीओजेके को पुनः प्राप्त करने का संकल्प भी जल्द पूरा होगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीओजेके को पुनः प्राप्त करने का संकल्प भी जल्द पूरा होगा.

Pakistan, Jammu Kashmir, Pak occupied J&K: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, 'पाकिस्तान (Pakistan)के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर (पीओजेके) को पुनः प्राप्त करना अगला एजेंडा है.' उन्होंने कहा कि यह हमेशा माना जाता था कि अनुच्छेद 370 (Article 370) को कभी भी निरस्त नहीं किया जाएगा, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में, यह संभव हुआ और इसी तरह पीओजेके को पुनः प्राप्त करने का संकल्प भी पूरा होगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को फिर से हासिल करना अगला एजेंडा है. यहां पीओजेके के विस्थापितों को समर्पित ‘मीरपुर बालिदान दिवस’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि जिस नेतृत्व के पास संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करने की क्षमता और इच्छाशक्ति है, वह ही पाकिस्तान के अवैध कब्जे से पीओजेके को फिर से हासिल करने की क्षमता रखता है.

    मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, मंत्री ने कहा कि भारतीय उपमहाद्वीप का विभाजन मानव जाति के इतिहास में सबसे बड़ी त्रासदी थी. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर को तत्कालीन रियासत के एक हिस्से को खोने के रूप में दूसरी त्रासदी का सामना करना पड़ा जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में चला गया.

    पीएम मोदी के नेतृत्व में संभव हुआ है आर्टिकल 370 हटाना
    सिंह ने कहा, ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर (पीओजेके) को पुनः प्राप्त करना अगला एजेंडा है.’ उन्होंने कहा कि यह हमेशा माना जाता था कि अनुच्छेद 370 (Article 370) को कभी भी निरस्त नहीं किया जाएगा, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, यह संभव हुआ और इसी तरह पीओजेके को पुनः प्राप्त करने का संकल्प भी पूरा होगा.

    प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री सिंह ने कहा कि पीओजेके को फिर से हासिल करना न केवल एक राजनीतिक और राष्ट्रीय एजेंडा है, बल्कि मानवाधिकारों के सम्मान की जिम्मेदारी भी है क्योंकि ‘पीओजेके में हमारे भाई अमानवीय परिस्थितियों में रह रहे हैं’ और स्वास्थ्य और शिक्षा जैसी बुनियादी सुविधाओं से उन्हें महरूम रखा गया है.

    जम्मू कश्मीर मामले में सरदार पटेल को अलग रखा गया था
    उन्होंने कहा कि तत्कालीन गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल ने आजादी के समय 560 से अधिक रियासतों के विलय की जिम्मेदारी संभाली थी और इसे सफलतापूर्वक पूरा किया था लेकिन उन्हें जम्मू-कश्मीर के मामले से उन्हें अलग रखा गया था क्योंकि प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जम्मू-कश्मीर को अपने स्तर पर संभालना चाहते थे. सिंह जम्मू कश्मीर के उधमपुर से लोकसभा सदस्य हैं.

    Tags: Jammu kashmir, Kashmir news, Pakistan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर