• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ACTION WEST BENGAL CM MAMATA BANERJEE CHANGED 29 IPS COOCH BEHAR SP SUSPENDED

एक्‍शन: पद संभालते ही ममता ने 29 आईपीएस बदले, कूचबिहार के एसपी सस्पेंड

ममता बनर्जी ने पद संभालते ही 29 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए हैं.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कूच बिहार जिले के पुलिस अधीक्षक देबाशीष धर को निलंबित कर दिया है, जहां सीतलकूची सीट पर 10 अप्रैल को हुए मतदान (Voting) के दौरान सीआईएसएफ की कथित गोलीबारी में चार लोग मारे गए थे.

  • Share this:
    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में पदभार ग्रहण करने के कुछ ही घंटों बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को पुलिस महकमे (Police Department) में बड़ा फेरबदल करते हुए 29 वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया. इनमें से अधिकतर का चुनाव से पहले निर्वाचन आयोग (Election Commission) ने तबादला कर दिया था.

    शाम को जारी आदेश के तहत जिन शीर्ष स्तर के अधिकारियों की पुराने पदों पर बहाली की गई है, उनमें पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र, अतिरिक्त महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जावेद शमीम और महानिदेशक सुरक्षा विवेक सहाय शामिल हैं. बुधवार शाम को जारी एक आदेश में यह जानकारी दी गई है. राज्य सरकार ने कूच बिहार जिले के पुलिस अधीक्षक देबाशीष धर को निलंबित कर दिया है, जहां सीतलकूची सीट पर 10 अप्रैल को हुए मतदान के दौरान सीआईएसएफ की कथित गोलीबारी में चार लोग मारे गए थे.

    इसे भी पढ़ें :- पश्चिम बंगाल में टीएमसी के जीतने के क्‍या होंगे मायने?



    बनर्जी ने इस घटना को लेकर पहले ही सीआईडी जांच के आदेश दिए हैं. देबाशीष धर के स्थान पर के कन्नन को पुलिस अधीक्षक बनाया गया है, जिन्हें चुनाव के दौरान पदस्थापना के इंतजार में रखा गया था. निर्वाचन आयोग ने डीजीपी वीरेंद्र का तबादला कर उनके स्थान पर नीरज नयन पांडे को नया डीजीपी नियुक्त किया था. पांडे को महानिदेशक (दमकल सेवा) नियुक्त किया गया है.

    इसे भी पढ़ें :- सीएम पद की शपथ दिलाते ही राज्यपाल ने दी हिंसा पर लगाम की नसीहत, ममता बनर्जी ने दिया जवाब

    इसी तरह, अतिरिक्त महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जगमोहन का तबादला कर उन्हें सिविल डिफेंस में भेजा गया है जबकि उनके स्थान पर एक बार फिर यह पद जावेद शमीम को सौंपा गया है. वहीं मेदिनीपुर के पुरबा में एक रैली के दौरान ममता बनर्जी के घायल होने के बाद उनकी सुरक्षा व्यवस्था में कथित चूक को लेकर आयोग ने सहाय को डीजी सुरक्षा के पद से हटा दिया था. अलग से जारी एक आदेश में उन्हें उनके पहले के पद पर फिर तैनात किया गया है.