कोरोना: 15 दिन से देश में एक्टिव मामलों में कमी, पर 5 राज्य दे रहे हैं टेंशन

देश के कई राज्यों में नए मामलों में कमी देखने को मिल रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश के कई राज्यों में नए मामलों में कमी देखने को मिल रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

पांच राज्य ऐसे हैं जहां 25% पॉजिटिविटी (Test Positivity Rate) अभी भी पाई जा रही है. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 35% से घटकर 10% रह गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बृहस्पतिवार को जानकारी दी है कि देश में पिछले 15 दिनों से एक्टिव मामलों (Covid Active Cases) में कमी देखी जा रही है. हालांकि पांच राज्य ऐसे हैं जहां 25% पाजिटिविटी अभी भी पाई जा रही है. दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 35% से घटकर 10% रह गई है. मंत्रालय में ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने बताया, '8 राज्य ऐसे हैं जहां पर 1 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. 9 राज्य ऐसे हैं जहां पर 50 हजार से 1 लाख के बीच एक्टिव केस हैं. वहीं 19 राज्यों में 50 हजार से कम एक्टिव केस हैं.'

बताया गया है कि 3 मई को 17% से एक्टिव मामले 12% रह गए हैं. इसी तरह रिकवरी रेट 3 मई को 81% थी जो अब बढ़ कर 86% हो गई है. पिछले 24 घंटे में 13 राज्य ऐसे हैं जहां 10 हजार से ज्यादा रिकवरी हुई है. डेथ रेट में भी कमी हुई है.

Youtube Video

24 घंटे में देश 20 लाख टेस्ट हुए
बीते 24 घंटे के दौरान 50% डेथ सिर्फ पांच राज्यों से दर्ज की गई हैं. 24 घंटे में देश 20 लाख टेस्ट हुए. प्रधानमंत्री ने 2 दिन पहले 10 राज्यों के अधिकारियों से बात की थी, आज भी उन्होंने अधिकारियों और मुख्यमंत्रियों की मौजूदगी में बात की है. उन्होंने कहा कि 'मेरा गांव कोरोना मुक्त है' अभियान की तरह चलाया जाए.

स्तनपान कराने वाली महिला के लिए वैक्सीन सेफ

कोरोना से रिकवर होने के 3 महीने बाद आपको वैक्सीन लेनी है. पहले डोज के बाद अगर आपको कोरोना हो जाए तो ठीक होने के 3 महीने बाद वैक्सीन लेनी है. अगर आप सामान्य रूप से भी बीमार हुए हो तो 4-8 हफ्ते के बाद आपको वैक्सीन लेना है. नेगेटिव होने के 14 दिन बाद ब्लड डोनेट कर सकते है. स्तनपान कराने वाली महिला के लिए वैक्सीन सेफ है.



बता दें इससे पहले स्तनपान कराने वाली महिलाओं और गर्भवती महिलाओं को वैक्सीनेशन प्रक्रिया से अलग रखा गया था. लेकिन अब स्तनपान कराने वाले महिलाओं को इसकी छूट दे दी गई है. गर्भवती महिलाओं को लेकर विचार अभी चल रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज